एशियाई टॉप टेन अवॉर्ड से सम्मानित आचार्य प्रवीन चौहान

Monday, 09 April, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

मध्य प्रदेश के इंदौर में हुए दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय ज्योतिष वास्तु महासम्मेलन में मेरठ के आचार्य प्रवीन चौहान को विशेष रूप से एशियाई टॉप टेन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। उनके साथ जोधपुर से आए पं. रमेश भोजराज द्विवेदी को मैन ऑफ एक्सलेंस’, दिल्ली से आए डॉ. एच.एस. रावत को इंटरनेशनल टॉप टेन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। एस्ट्रो रिसर्च फाउंडेशन के तत्वाधान मे पंडित सुरेश शर्मा के आयोजन में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ।

रविवार को संपन्न हुए दो दिवसीय महासम्मेलन में देश-विदेश के 300 से ज्यादा नामचीन ज्योतिषाचार्यों ने हिस्सा लिया था।

प्रवीन चौहान ने महासम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि स्वतंत्र भारत की कुंडली में शुक्र, बुध, सूर्य, चंद्रमा और शनि तृतीय भाव में स्थित है। यह स्थिति दर्शाती है कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत का प्रभाव बढ़ेगा। राहू का गोचर कर्क राशि में होने से पड़ोसियों से विशेषकर चीन और पाकिस्तान से समस्याएं हो सकती हैं लेकिन भारत अपने दृढ इच्छा शक्ति से अपना प्रभाव जमाने में कामयाब रहेगा।

वहीं पं. रमेश भोजराज द्विवेदी ने विवाह मे कुंडली मिलान व ज्योतिष के संरक्षण पर अपने विचार रखे। आचार्य प्रवीन ने अपने वक्तव्य में आगे कहा ज्योतिर्विज्ञान खगोलीय पिंडों के अध्ययन का विज्ञान है। विज्ञान को अंधविश्वास बताना भी अपने ढंग का अंधविश्वास है। ज्योतिषी अनेक भविष्यवाणियां करते हैं। वे गलत हो सकती हैं और सही भी। सही हो जाने को संयोग कहा जाता है लेकिन गलती के आधार पर पूरे विज्ञान को अंधविश्वास। अनेक चिकित्सक सही उपचार नहीं कर पाते। चिकित्सा विज्ञान को अंधविश्वास नहीं कहा जाता।

इसी क्रम मे दिल्ली के डॉ. एच.एस. रावत ने कुंडली मिलान के समय नाड़ी दोष के महत्व पर प्रकाश डाला।

  

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



संबंधित खबरें

पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com