पत्रकारिता से जुड़े आचार्य शैलेश तिवारी हुए डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित

Tuesday, 26 December, 2017


समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

आचार्य शैलेश तिवारी पिछले 15 वर्षों से वैदिक ज्योतिष और तंत्र विद्या में काम कर रहे हैं। राजनीतिक फलादेश के साथ-साथ ये दशमहाविद्या देवी की उपासना करते हैं। आचार्य शैलेश पत्रकारिता में 2006 में भारतीय जन संचार संस्थान से हिंदी पत्रकारिता में पोस्ट ग्रेजुएट भी किया और फिर वे कुछ समय पत्रकारिता में काम करने के बाद अपने पौराणिक कर्मकांड और तंत्र मंत्र की ओर लौट गए। प्रतिदिन 6 से 7 घंटे प्रतिदिन साधना यज्ञ करने के कारण और तंत्र मंत्र पर जन कल्याण को मार्ग पर चलने के कारण उन्होंने 2008 में पत्रकारिता को अलविदा कहा। वे पिछले दस सालों से रमकर सनातन धर्म और संस्कृति के लिए काम कर रहे हैं। उन्हें नियमित तौर पर आप न्यूज़ चैनलों पर धर्म और तंत्र पर चर्चा में देखते हैं। भारत की राजनीति और तमाम दिग्गजों के घर में कुबेर देव की प्रतिमा अष्टधातु की स्थापना बगलामुखी और श्री विद्या का यज्ञ  का कार्य करने से लेकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक और व्यापारिक भविष्यवाणी करने का श्रेय इन्हें प्राप्त है।

 

आचार्य शैलेश जन कल्याण के लिए गरीबों और असहाय लोगों के बीच साप्ताहिक भंडारा करते हैं। इन्होंने कुबेर जी की स्थापना देश के पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी देवेगौड़ा जी के घर, केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के घर पर और मूर्ति सिद्ध करके वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद जी को और निवर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को दिया है। वर्ष 2018 में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कुबेर मूर्ति और श्री  यंत्र देने के लिए अमेरिका की यात्रा करेंगे। दुनिया के 20 से ज्यादा देशों में अपने शिष्यों को कुबेर जी स्थापना करके मूर्ति दे चुके हैं। आचार्य जी बगलामुखी यज्ञ तमाम बड़े राजनीतिज्ञों की जीत के लिए करते हैं।

 

उनके इसी योगदान के चलते उन्हें वैदिक तंत्र विद्या में मानद उपाधि के रूप में विक्टोरिया ग्लोबल विश्विद्यालय की तरफ से डॉक्टर की उपाधि से विभूषित किया गया है। इन्हीं के साथ फ़िल्म कंपोजर ललित पंडित जाने माने फिल्मी सकसीयत और भजन गायक सुरेश वाडकर जी को भी मानद उपाधि डॉक्टर से नवाजा गया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में बाबुल सुप्रियो देश के केंद्रीय राज्यमंत्री मंत्री और संगीत सितारा के द्वारा उपाधि प्रदान किया गया।

 

नेशनल इंस्टीट्यूट आफ एडुकेशन एंड रिसर्च के निदेशक डॉक्टर अभिराम कुलश्रेष्ठ ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ नाम से पुस्तक का विमोचन के साथ बेटियों की सशक्तिकरण के लिए मोदी सरकार के पहल की सराहना करते हुए। साथ ही कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने बेटियों को शिक्षित होने की बात पर बल दिया।



संबंधित खबरें

पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com