जांच में झूठा निकला इन बड़ी कंपनियों का दावा, ASCI ने विज्ञापनों पर लगाई रोक  

Tuesday, 10 January, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

एडवर्टाइजिंग स्‍टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (ASCI)  की कंज्‍यूमर कंप्‍लेंट्स काउंसिल (CCC) को अक्‍टूबर 2016 में 162 विज्ञापनों की शिकायतें प्राप्‍त हुई,  जिनमें से 98 को सही ठहराते हुए जांच के लिए उन्‍हें रोका गया था।

जिन 98 शिकायतों को सही ठहराया गया था, उनमें 37 हेल्‍थकेयर कैटेगेरी,  31 विज्ञापन एजुकेशन कैटेगरी के,  छह फूड एंड बेवरेज कैटेगरी के, पांच विज्ञापन पर्सनल कैटेगरी के और 19 विज्ञापन अन्‍य कैटेगरी थे।

फूड और बेवरेज (FOOD & BEVERAGES)

‘GlaxoSmithKline Consumer Healthcare Ltd (Horlicks)’ के विज्ञापन में किया गया दावा जांच में सही नहीं मिला। इसके अलावा इस कैटेगरी में ‘AB Inbev India Private Limited (Budweiser)’, ‘Ashok & Co. Pan Bahar Ltd. (Pan Bahar Masala)’ आदि के विज्ञापन भ्रामक और ASCI के मानकों का उल्‍लंघन करते मिले।

 हेल्‍थकेयर (HEALTHCARE)

‘Narayana Hrudayalaya Ltd. (Narayana Multispecialty Hospital)’ और ‘Abbott Healthcare P. Ltd. (Pediasure)’ आदि के विज्ञापन भी ASCI की गाइडलाइन के नियमों का पालन करते हुए नहीं मिले।

 पर्सनल केयर (PERSONAL CARE)

‘Zee Laboratories Limited (Zee Myfair Cream)’, ‘Unique Permanent Hair Loss Cream’ और ‘Bajaj Corp (Bajaj Almonds Drops Hair Oil’ द्वारा विज्ञापनों में किए गए दावे भी जांच में झूठे और भ्रामक निकले।

एजुकेशन (EDUCATION)

कंज्‍यूमर कंप्‍लेंट्स काउंसिल (CCC)  ने पाया कि इस कैटेगरी में 31 विभिन्‍न एडवर्टाइजर्स द्वारा किए गए दावों की पुष्टि नहीं हुई। इस प्रकार इन विज्ञापनों ने ASCI की गाइडलाइंस का उल्‍लंघन किया था।

इनमें ‘Think & Learn Pvt Ltd (BYJUs Classes)’, ‘KC Mahindra Education Trust (Nanhi Kali)’ और ‘Millennium Group of Institutions’ आदि द्वारा विज्ञापनों में किए गए दावे भी जांच में झूठे व भ्रामक निकले।

अन्‍य (OTHERS)

‘फ्लिपकार्ट (Flipkart – Sale of Titan Sonata digital Watch)’ ने वेबसाइट पर दिए अपने विज्ञापन में एक घड़ी का एमआरपी 599 बताते हुए उसे डिस्‍काउंट के बाद 479 में बेचने का ऑफर दिया था। जबकि इस घड़ी का वास्‍तविक मूल्‍य ही 399 रुपये था। इस प्रकार यह दावा झूठा निकला और यह कंज्‍यूमर को दिग्‍भ्रमित कर रहा था।

इसके अलावा भारती एयरटेल लिमिटेड (Airtel) ने अपने विज्ञापन में 29 रुपये में महीने भर का इंटरनेट देने का वादा किया था। इसमें कहा गया था कि कस्‍टमर 29 रुपये में 30 दिन की वैधता के साथ 75 एमबी का डाटा प्राप्‍त कर सकते हैं, लेकिन जांच में यह दावा भी झूठा साबित हुआ। इसके अलावा हिन्‍दुस्‍तान यूनिलीवर लिमिटेड (Vim Bar) समेत कई एडवर्टाइजर्स का दावा भ्रामक और झूठा निकला जो ASCI के नियमों का उल्‍लंघन था।

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com