मोबाइल मीडिया क्या बन गया प्रिंट मीडिया के लिए सवालिया निशान?

मोबाइल मीडिया क्या बन गया प्रिंट मीडिया के लिए सवालिया निशान?

Monday, 05 March, 2018

अभिमनोज

वरिष्ठ पत्रकार ।।

प्रिंट मीडिया के हाथ से मीडिया की सत्ता की डोर छूटती जा रही है। पीएम नरेन्द्र मोदी की मोबाइल को लेकर भाजपाइयों को दी गई सलाह का भावार्थ तलाशेंगे तो यह बात साफ हो जाएगी कि मोबाइल मीडिया सारे मीडिया पर लगातार भारी पड़ता जा रहा है।

पीएम ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले उन राज्यों के सांसदों को डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए युवाओं पर फोकस करने को कहा है, जहां बीजेपी की सरकार नहीं है। पीएम मोदी ने नाश्ते पर बैठक में सांसदों से कहा कि डिजिटल एक नई भाषा है और मोबाइल एक नया कम्युनिकेटर है। खबरें हैं कि पीएम ने सांसदों को कहा है कि वे युवाओं तक पहुंचने के लिए मोबाइल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था कि अगले आम चुनावों में राजनेताओं और मतदाताओं के बीच मोबाइल फोन सबसे बड़ा इंटरफेस होगा। पीएम ने यहां तक कहा कि अगला लोकसभा चुनाव मोबाइल पर लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि जब तक सोशल प्लेटफॉर्म पर भाजपा के सांसदों की मौजूदगी नहीं होगी, तब तक वह चुनावों के लिए तैयार नहीं हो पाएंगे। दरअसल, यह बदलाव ठीक वैसा है जैसा चिट्ठी-पत्री के जमाने में ईमेल की एंट्री हुई थी और जल्द ही चिट्ठी-पत्री से लोग ईमेल पर आ गए। 

देश के भावी रीडर युवा, दैनिक अखबारों को कितना महत्व दे रहे हैं? अगर प्रिंट मीडिया इस दिशा में सोचेगा और समझेगा तो प्रिंट मीडिया की दशा और दिशा स्वत: ही स्पष्ट हो जाएगी। इस वक्त मोबाइल मीडिया की सबसे बड़ी कमजोरी विश्वसनीयता को लेकर है लेकिन जैसे ही विश्वसनीय मोबाइल मीडिया स्थापित होते जाएंगे, मीडिया की सारी समीकरणें बदलती जाएंगी।

मोबाइल मीडिया की सबसे बड़ी ताकत हर जगह, हर वक्त पहुंच और जीरो खर्च है। जहां प्रिंट मीडिया में प्रॉडक्शन कॉस्ट, डिस्ट्रिब्यूशन कॉस्ट और एडवर्टाइजमेंट रेट, लगातार बढ़ने हैं वहीं मोबाइल मीडिया इन दवाबों से मुक्त है इसलिए समय रहते सच्चाई से आंखें मूंदने के बजाय प्रिंट मीडिया के प्रभावी वजूद को बनाए रखने में मोबाइल मीडिया कैसे सहयोगी हो सकता है? इस दिशा में सोचा जाना चाहिए।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार और इंटरनेट समाचार-पत्र www.palpalindia.com के प्रधान संपादक हैं) 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

इंडिया न्यूज पर दीपक चौरसिया का 'टू नाइट विद दीपक चौरसिया'

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com