मोदी ने भी वही बात कह दी, जो मैं पिछले दो महीने से कह रहा हूं: डॉ. वैदिक

Tuesday, 10 January, 2017

डॉ. वेदप्रताप वैदिक

वरिष्ठ पत्रकार ।।

भाजपा कार्यकारिणी की बैठक के दूसरे दिन नरेंद्र मोदी ने वही बात कह दी, जो पिछले दो माह में मैं कई बार कह चुका हूं। जब मैं वह बात टीवी चैनलों पर बोलता था और अखबारों में लिखता था तो हमारे भाजपा के कुछ साथियों को काफी बुरी लगती थी और मेरे कथन के पीछे वे दुराशय देखने का दुस्साहस भी करते थे लेकिन स्वयं मोदी ने कहा है कि आम जनता को यह जानने का पूरा अधिकार है कि भाजपा के पास पैसा कहां से आता है, कैसे आता है, कौन देता है?

क्यों कहा मोदी ने ऐसा? ऐसी हिम्मत आज तक किसी अन्य प्रधानमंत्री या नेता की नहीं हुई। मोदी ने ऐसा इसलिए कहा कि उन्हें पता है कि हमारी राजनीतिक पार्टियां भ्रष्टाचार की अम्मा हैं। सत्तारुढ़ पार्टी, चाहे वह कोई भी हो, वह भ्रष्टाचार की दादी होती है। इसीलिए मोदी ने बिल्कुल ठीक कहा कि भाजपा सबसे पहले अपना हिसाब पारदर्शी करे। दूसरों को उपदेश देने से क्या फायदा? पर उपदेश कुशल बहुतेरे !

जब देश के प्रधानमंत्री और मंत्रिगण रोज खुद भ्रष्टाचार के पैसे से अपनी राजनीतिक गाड़ी खींचते हैं तो वे दूसरों पर उंगली कैसे उठा सकते हैं? इसमें शक नहीं कि नेतागण भ्रष्टाचार करते समय काफी चाक-चौकस रहते हैं। वे पकड़े न जाएं, इसका पूरा इंतजाम करते हैं लेकिन क्या उनकी ये सब तिकड़में उनके अफसरों से छिपी रहती हैं? क्या उनके घनिष्ट अनुयायियों को उनकी शातिर चालों का पता नहीं रहता है? वे सब भी डटकर भ्रष्टाचार करते हैं।

इस तरह से देश में भ्रष्टाचार की एक लंबी लौह-श्रृंखला खड़ी हो जाती है। इसे आप नोटबंदी जैसे फर्जी अभियानों से खत्म नहीं कर सकते और न ही सिर्फ कानून इसे रोक सकता है। कानून जरुर बनाया जाए, ऐसा कि पार्टियों का सारा लेन-देन डिजिटल हो और सार्वजनिक हो। कोई भी जब चाहे, उसे देख सके लेकिन उससे भी ज्यादा जरुरी यह है कि आज भाजपा भारत के सामने ही नहीं, सारी दुनिया के सामने एक मिसाल पेश करे। एक स्वच्छ पार्टी की, एक पारदर्शी पार्टी की, एक भ्रष्टाचाररहित पार्टी की।

इस समय नरेंद्र मोदी भाजपा में सर्वशक्तिमान हैं (और सर्वज्ञ भी)। यदि वे अपनी शक्ति इस काम में लगा दें तो इतिहास में वे बड़े नेता के रुप में जाने जाएंगे लेकिन डर यही है कि नोटबंदी की तरह वे कहीं भाजपा को भी अधर में न लटका दें।

(साभार: नया इंडिया)

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com