‘HT’ में सुमित्रा महाजन के बयान पर छपे एडिटोरियल पर पूर्व पत्रकार ने उठाए सवाल, लिखा खुला खत

‘HT’ में सुमित्रा महाजन के बयान पर छपे एडिटोरियल पर पूर्व पत्रकार ने उठाए सवाल, लिखा खुला खत

Thursday, 29 June, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍सके पूर्व पत्रकार विवेक सिन्‍हा ने अखबार के एडिटर-इन-चीफ को एक ओपन लेटर लिखा है। इस लेटर में उन्‍होंने 23 जून को अखबार में छपे एडिटोरियल पर सवाल उठाए हैं। ‘Journalism is different from PR’ हेडलाइन से छपे इस एडिटोरियल में अखबार ने दिल्‍ली में हुई घटना के परिप्रेक्ष्‍य में निष्‍पक्षता और पत्रकारीय स्‍वतंत्रता को लेकर नैतिक मूल्‍यों की बात कही है।

इस पत्र में विवेक सिन्‍हा का कहना है कि वे इस बात से सहमत नहीं हैं और उन्‍हें लगता है कि एडिटोरियल में तथ्‍यों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।   

पत्र के अनुसार, इस एडिटोरियल में अखबार ने लोकसभा स्‍पीकर सुमित्रा महाजन को निशाने पर लिया है, जो आरएसएस के चैनल इंद्रप्रस्‍थ विश्‍व संवाद केंद्र की ओर से आयोजित नारद जयंती अवॉर्ड्स को संबोधित कर रही थीं। पत्रकारों को सम्‍मानित करने के लिए इस अवॉर्ड्स समारोह का आयोजन किया गया था। यहां सुमित्रा महाजन ने पत्रकारों को गहराई से रिपोर्टिंग करने की गुजारिश की थी, जिसमें जवाब में एडिटोरियल में लिखा गया है कि ‘varnishing facts helps no one’।    

विवेक सिन्‍हा के अनुसार, सुमित्रा महाजन की वो स्पीच यूट्यूब पर भी है और हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍सके संपादकों को इसे जरूर देखना चाहिए। उन्‍हें स्‍पीकर के बयान के बारे में गुमराह नहीं करना चाहिए और अपनी जरूरत के अनुसार इसे घुमाकर नहीं देखना चाहिए। देश के न्‍यूजरूम्‍स में की जा रही रिपोर्टिंग पत्रकारों के बीच बहस का मुद्दा है। हाल के मामलों में टॉप न्‍यूज चैनलों ने तो अपने प्रति‍द्वंद्वियों की आलोचना वाले होर्डिंग भी लगाए हैं।   

विवेक सिन्‍हा का कहना है कि इस मामले में भी लोगों को यह समझने की जरूरत है कि सुमित्रा महाजन ने वास्‍तव में उस समय क्‍या कहा था। सुमित्रा महाजन का कहना था कि किसी भी पत्रकार को सतही तौर पर बाइट लेने से बचना चाहिए और मुद्दे की जड़ में जाना चाहिए। इस दौरान उन्‍होंने कश्‍मीर घाटी में चल रहे बवाल और वहां हो रही पत्‍थरबाजी का उदाहरण भी दिया था। उनका स्‍पष्‍ट कहना था कि केवल एक माइक लेकर घूमते हुए बाइट ए‍कत्रित करते रहने से कश्‍मीर घाटी में हो रही हिंसा और पत्‍थरबाजी के पीछे की असली वजह को नहीं समझा जा सकता है।

विवेक सिन्‍हा के इस पत्र को आप यहां पढ़ सकते हैं।

http://www.viveksinha.in/2017/06/open-letter-to-editor-in-chief.html?m=1


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।




पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com