एनडीटीवी इंडिया का कड़ा फैसला: अब एंकर्स की बारी... एनडीटीवी इंडिया का कड़ा फैसला: अब एंकर्स की बारी...

एनडीटीवी इंडिया का कड़ा फैसला: अब एंकर्स की बारी...

Thursday, 04 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

एनडीटीवी समूह के हिंदी न्यूज चैनल एनडीटीवी इंडिया में लगातार एम्पलॉइज को पिंक स्लिप थमाई जा रही है। अब आ रही जानकारी के मुताबिक चैनल की सीनियर एडिटर सिक्ता देव भी इसका शिकार बन गई है। कंपनी ने उन्हें भी विदाई पत्र थमा दिया है। साथ ही एनडीटीवी में कार्यत अदिति, धीरेंद्र, अमिताभ, इंडिया मैटर्स शो की टीम में शामिल शिखा, राधिका, हिंदी प्रडक्शन सर्वस से श्वेता संकल्प, कैमरामैन जैम्मी और वर्धा समेत कई एम्पलॉइज पर प्रबंधन ने गाज गिराई है।

साथ ही खबर है कि मैनेजमेंट में चैनल में कार्यरत एक और एंकर नगमा सहर के भी कॉन्ट्रैंक्ट में परिवर्तन करते हुए उनकी सैलरी में काफी कमी की है।  

करीब दो दशक से अधिक समय से सक्रिय पत्रकारिता कर रहीं सिक्ता की गिनती उन एंकर्स में होती है, जो स्टूडियों से अधिक फील्ड रिपोर्टिंग को तरजीह देते हैं। 2003 में एनडीटीवी से जुड़ने वालीं सिक्ता भोपाल में पली-बढ़ी है। उन्होंने दिल्लीक के एक जाने-माने कालेज में पढ़ाई के बाद पत्रकारिता की तरफ रुख किया। उन दिनों टीवी पत्रकारिता अपने शैशवकाल में थी जब सिक्ताक इसका हिस्सा बनी थीं। 1995 में वे ‘आजतक’ से जुड़ीं जब दो घंटे का ये शो दूरदर्शन पर प्रसारित होता था। उन्होाने क्रिकेट मैच फिक्सिंग से लेकर नाइन इलेवन, कंधार कांड, संसद और अक्षरधाम पर आतंकी हमला, अबू सलेम की वापसी और समझौता एक्सिप्रेस ब्लासस्टन जैसे अहम मसलों की रिपोर्टिंग और एंकरिंग की। सिक्ता देव देश की उन गिनी-चुनी पत्रकारों में से एक हैं जिनका रिपोर्टिंग और एंकरिंग के साथ ही कलम पर भी पूरा अधिकार है। विषय की वह मोहताज नहीं हैं। मध्य  प्रदेश के एक आईपीएस अफसर की बेटी और ओडिशा के एक राजघराने से ताल्लुेक रखने वाली सिक्ता आम आदमी के दर्द को बखूवी बयां कर रहीं हैं।




पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com