जरूर पढ़िए ये खबर और हो जाए सोशल मीडिया पर होने वाली ठगी से सावधान

जरूर पढ़िए ये खबर और हो जाए सोशल मीडिया पर होने वाली ठगी से सावधान

Thursday, 27 July, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

टेक्नोलॉजी ने जहां एक ओर हमारी जिंदगी आसान बना दी हैं, तो वहीं मुश्किलें भी अब बढ़ गई हैं। साइबर अटैक और ऑनलाइन फ्रॉड के किस्से तो अब हर दिन सुनने को मिल जाते हैं। ऐसी ही एक घटना महाराष्ट्र के पुणे की रहने वाली वेलपुरी पवित्रा एस के साथ हुई है, लेकिन पवित्रा अपने सूझबूझ के चलते ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार होते-होते बच गईं हैं। उन्होंने फेसबुक पर इस पूरी घटना को शेयर किया, जिसके बाद उनके साथ हुई ये घटना सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है।

वेलपुरी ने बताया कि दो महीने पहले उन्होंने अपना एक स्ट्रोलर बेचने के लिए क्लासिफाइड प्लेटफॉर्म OLX पर विज्ञापन पोस्ट किया था। उनका आइटम 3,500 रुपए का था। हालांकि एड पोस्ट को लेकर महीनों बाद जब एक 'कस्टमर' ने उनसे अप्रोच किया और दोनों में डील फाइनल हो गई।

व्यक्ति ने महिला से कहा कि वह मुंबई में रहता है और यह गाड़ी अपनी बहन के लिए खरीदना चाहता है जो पुणे में रहती है। इसके लिए उसने कहा कि वह पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर कर देगा और उसकी बहन आकर गाड़ी ले जाएगी। महिला से डील फाइनल होने के बाद उसने ऑनलाइन पैसे भेजने के लिए महिला की बैंक डीटेल्स मांगी। सिर्फ 3 ही मिनट बाद महिला के फोन पर मैसेज आया कि उनकी बैंक खाते में 13,500 रुपए जमा किए गए हैं।

इसके बाद शख्स ने चैट करते हुए महिला से कहा कि उसने गलती से अपनी मां को भेजने वाले पैसे उन्हें भेज दिए हैं। वह शख्स बोला कि जो अतिरिक्त 10 हजार उनके खाते में जमा हो गए हैं वह उन्हें वापस कर दें। महिला ने व्यक्ति की बैंक डीटेल्स मांगी तो वह बोला कि पेटीएम ही कर दीजिए। उसने पेटीएम के लिए एक नंबर दिया और कहा कि यह उसकी मां का नंबर है, जो अस्पताल में एक बिल के भुगतान के लिए खड़ी हैं, इसलिए ये पैसे उस मोबाइल नंबर पर भेज दें।

वेलपुरी ने कहती हैं कि उन्हें कुछ गड़बड़ लगी और उन्होंने एसएमएस पर विश्वास करने की बजाए बैंक अकाउंट चेक किया, लेकिन उसमें कोई पैसा ट्रांसफर नहीं हुआ था, जिसके बाद उन्होंने बैंक के कस्टमर केयर पर कॉल किया और पूछा कि क्या तीन मिनट के अंदर पैसा ट्रांसफर करना संभव है या नहीं। जिसके बाद उन्हें बताया गया कि NEFT या IMPS मोड दोनों ही केस में यह संभव नहीं हैं और इसके लिए कम से कम दो घंटे लगते हैं।

इस बीच वह शख्स उन्हें लगातार मैसेज कर रहा था कि मां अस्पताल में है और जल्दी पैसा ट्रांसफर कर दो। मैंने उससे बोला कि मुझे पैसा नहीं मिला और पूछा कि किस बैंक से ट्रांसफर किया तो उसने आईसीआईसीआई कहा। मैंने जांच के लिए फोन रख दिया और उसके बाद जब भी कॉल किया बिजी था। दो घंटे बाद उसका मुझे कॉल आया जो कि मैंने नजरअंदाज कर दिया और उठाया नहीं। इसके बाद वह समझ गईं कि उनके साथ धोखाधड़ी की जा रही है।

जिस नंबर से यह मैसेज आया था, वह नंबर है 5944 और जिस नंबर से उस व्यक्ति ने फोन किया था, वह नंबर है 9967957477. इसके अलावा जिस नंबर पर पेटीएम करने को कहा जा रहा था, वह नंबर है- 8948413565. आपको बता दें कि 5944 जैसे नंबर से ग्रुप मैसेज जैसी सुविधाएं मिलती हैं। इस तरह के नंबर अक्सर मार्केटिंग कंपनियां खरीदती हैं। अगर आपको ऐसा कोई मैसेज या फोन आए तो सावधान रहें।

  

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com