मीडिया में दिए विज्ञापनों को लेकर मोदी सरकार पर उठे सवाल मीडिया में दिए विज्ञापनों को लेकर मोदी सरकार पर उठे सवाल

मीडिया में दिए विज्ञापनों को लेकर मोदी सरकार पर उठे सवाल

Monday, 29 May, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

26 मई को नरेंद्र मोदी सरकार ने तीन साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर केंद्र सरकार ने विभिन्न समाचार पत्रों और मीडिया माध्यमों में विज्ञापन भी दिए, जिसे लेकर अब कांग्रेस व विपक्ष के कई नेताओं ने सवाल उठाया है।

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने इसे सरकारी पैसे की बर्बादी बताते हुए कहा कि सरकारी खजाने से पंद्रह सौ करोड़ रुपए उन विज्ञापनों पर खर्च किये गए जो लोगों को गुमराह करते हैं।

वहीं, मोदी सरकार द्वारा किए जा रहे प्रचार पर आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी निशाना साधा है। AAP का आरोप है कि राज्य सरकारें जनता की कमाई केंद्र सरकार के प्रचार पर लुटा रही हैं।  

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इन विज्ञापनों के लिए केंद्र को आड़े हाथ लिया। सिसोदिया ने कहा, '3 साल पूरे होने पर सरकार के लोग जश्न मना रहे हैं। अच्छी बात है कि 3 साल पूरे हो गए हैं आपके, जनता भी सुकून में है कि 3 साल पूरे हो गए हैं, अब कम समय ही बचा है। लेकिन केंद्र सरकार के 3 साल पूरे होने के मौके पर BJP शासित राज्यों में जिस तरह रोज-रोज विज्ञापन दिए जा रहे हैं उससे पता चलता है कि BJP की राज्य सरकारें किस तरह जनता की कमाई को अखबारों, टीवी और सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार के प्रचार में लुटा रही हैं।'


उन्होंने आगे कहा, 'हमने पता किया कि अलग-अलग राज्यों में इस प्रचार के लिए क्या बजट है। हमें पता चला कि BJP शासित राज्यों में 2,000 करोड़ रुपए से ज्यादा का बजट इस प्रचार पर खर्च करने के लिए रखा गया है।'

गौरतलब है कि केंद्र में तीन साल पूरे करने के उपलक्ष्य में मोदी सरकार की तरफ से विभिन्न मीडिया माध्यमों में बड़े विज्ञापन जारी किए गए थे। अब इन विज्ञापनों को लेकर कहा जा रहा है कि इसके लिए सरकारी खजाने से भुगतान किया गया था।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com