अपनी भूमिका छोड़ सरकार का हिस्सा बन गई है मीडिया: गुलाब कोठारी

Saturday, 07 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

अपनी भूमिका छोड़ मीडिया ने खुद को सरकार का हिस्सा बना लिया है’ ये कहना है राजस्थान पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी का। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में राजस्थान पत्रिका समाचार समूह द्वारा आयोजित पत्रिका की-नोट में उन्होंने ये बात कही।

विचारों के महाकुंभ का शनिवार को आगाज हुआ। पत्रिका की-नोट कार्यक्रम का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के डीप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने किया। वहीं राजस्थान पत्रिका समाचार समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी भी उनके साथ मौजूद रहें। इस महाकुंभ में हर क्षेत्र के विशेषकों ने भाग लिया।  

इस मौके पर गुलाब कोठारी ने कहा कि की-नोट अलग-अलग प्रांत में होता है। दो साल से हम लोगों ने डिजिटल में प्रवेश किया है और सम्मानजनक जगह बनायी है। लोगों ने जो सहयोग दिया हैउससे हमारा उत्साह बढ़ा है। हम प्रयास करते हैंजिस प्रांत में हमारी उपस्थिति है वहां के विकास के आयाम को लेकर चुने हुए विशेषज्ञों को एक मंच व एक जगह पर प्रस्तुत करें।


गुलाब कोठारी ने आगे कहा कि हमारा प्रयास है कि हम अपनी बात को देश के विकास के लिए प्रेरित करें। लोगों को लाभ होगा और व्यवस्था में बदलाव होगा। मीडिया सूचनाओं के प्रसारण का माध्यम है। उसका उत्तरदायित्व है कि समाजिक प्रसारण भी करें। एक व्यवसाय है और उसकी सीमा हो। सामाजिक उत्तरदायित्व की भी सीमा हो। सामाजिक एकरुपता को बनाये रखने की जरुरत है। हमारी भूमिका सामाजिक सारोकारों के साथ जुड़ी है। अखबार एक जगह है। सामाजिक जागरूकता पर विशेष ध्यान दिया जाता है। कन्या भ्रूण हत्याजल संरक्षण आदि सामाजिक मुद्दे पर वर्षों से काम करते आए हैं।


उन्होंने कहा कि यूपी देश का हृदय है। घनी आबादी के साथ राजनीतिक रूप से इस सूबे का बहुत महत्व है। जनता ने हमें एक लक्ष्य दिया है हमारे वायदों को स्वीकार किया है। प्रदेश को विकास के मार्ग पर चला कर शीर्ष पर प्रदेश को पहुंचाना है। लोकतंत्र के प्रति निष्ठावान मीडिया भी सबको चाहिए, इसके लिए स्वार्थ को छोड़ना होगा। पत्रकारिता के जो सिद्धांत हैं वह समाज में नई चेतना व ऊर्जा का निर्माण करते हैं। पिछले वर्षों में पत्रिका ने देश की सांस्कृतिक विरासत को लेकर साथ निभाया है। देश की गहराई तक संस्कारों की छवि व प्रतिष्ठा को आप देख सकते हैं।


उन्होंने कहा कि शिक्षा क्षेत्र से डिग्री मिल रही है लेकिन नौकरी नहीं। शिक्षा में जिंदगी को जीने का तरीका नहीं सिखाया जाता है। परिवर्तन के दौर से जिंदगी चल रही है। परिवारों की भूमिका क्या थीक्या रह गई है। अब परिवार ही नहीं रह गया है। आखिर हम किन आकांक्षाओं को लेकर भविष्य देख रहे हैं। भविष्य नहीं दिखायी दे रहा है। नई पीढ़ी को भविष्य नहीं दिख रहा है।


कोठारी ने कहा कि सच्चाई के मार्ग पर चलना बहुत कठिन होता है। यह तलवार की धार पर चलने जैसे होता है। सीएम योगी संत हैं और सच्चाई पर चलने के साथ राजनीति का भी ध्यान रखना होता है। सच को ही ईश्वर मानते हैं। पत्रिका एक सच है। यहां तक पहुंचने के लिए कुर्बानी देते आए हैं। पेड न्यूज में अन्य मीडिया घराने के नाम आते हैं, लेकिन पत्रिका का नाम इसमें नहीं आता है। सिद्धांतों पर चलने के लिए आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। सरकारों की आंखों में कांटे की तरह चुभ रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट तक लडना पड़ रहा है।



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com