संसद मे कॉपीराइट संशोधन बिल पास

Tuesday, 22 May, 2012

समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो गीतकारों ,कलाकारों एवं रचनाकारों को उनकी कृति पर पूरे जीवन काल में रायल्टी देने की राह प्रशस्त करने के मकसद से कॉपीराइट संशोधन विधेयक पर संसद की मुहर लग गई है। मंगलवार को लोकसभा में कॉपीराइट संशोधन विधेयक 2011 को मंजूरी दी गई। राज्यसभा में यह विधेयक पहले ही पारित हो चुका है। विधेयक पर चर्चा का जवाब देते हुए सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उन्हें पत्र लिखकर यह विधेयक लाने को कहा था। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक विधेयक में रचनाकारों, साहित्यकारों, समेत सभी पक्षों के हितों का ध्यान रखा गया है। इस विधेयक के माध्यम से रचनाकारों और साहित्यकारों को उनकी कृति का व्यावसायिक हित के लिए उपयोग किए जाने पर आजीवन रायल्टी मिलेगी। उन्होंने कहा कि रायल्टी में बंटवारे की व्यवस्था की गई है। सभी पक्षों के अधिकारों का स्पष्ट उल्लेख और उनके संरक्षण का भी प्रावधान है। अगर कोई समस्या आई तब सरकार इसका ख्याल रखेगी। नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज ने विधेयक का स्वागत करते हुए कहा कि देश में गीतकार, गायक,संगीतकार और अन्य कलाकारों को उनके हिस्से का लाभ नहीं मिलने से उनकी हालत दयनीय रही है। उन्होंने साठ की दशक में मशहूर गायिका रही मुबारक बेगम का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो न जैसे लोकप्रिय गीत को संगीतबद्ध करने वाले कुलदीप सिंह मुंबई के अंधेरी में एक झोपड़ी में रहते हैं। उन्होंने कहा कि कलाकार की रचना का फायदा निर्माता उठाएं और जो बोल लिखे, धुन बनाए उसे कुछ नहीं मिले, यह ठीक नहीं है। जद-यू के शरद यादव ने कहा कि सात सुरों के संगम में अध्यात्म है। देश अगर किसी चीज पर नाज कर सकता है तो वे सुर हैं। इसे बनाने वालों को उनका हक मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमूमन मैं सिब्बल की बात से सहमत नहीं हो पाता हूं लेकिन इस मसले पर मेरी उनके साथ पूरी तरह से सहमति है। कांग्रेस के शशि थरूर ने कहा कि तमाम कलाकारों ने इस मसले पर एकजुटता दिखाई है। समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com