CM के सुरक्षाकर्मियों को यूं कैमरे में कैद करना पत्रकार को पड़ा भारी, कोर्ट ने दी ये सजा

Wednesday, 01 November, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को सोते हुए अपने कैमरे में कैद करने वाले पत्रकार व कैमरामैन को कोर्ट ने दोषी माना है। न्यायिक दंडाधिकारी विष्णुप्रसाद सोलंकी ने शासकीय कार्य में बाधा के आरोप में दोनों को एक साल की सजा सुनाई और 100-100 रुपए का अर्थदंड भी लगाया। स्रोतों से मिली जानकारी के मुताबिक फिलहाल इस मामले में दोनों को जमानत भी मिल गई है।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी सीमा शर्मा ने मीडिया को बताया कि जिले में सैलाना के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी विष्णु प्रसाद सोलंकी ने टीवी पत्रकार विजय मीणा और कैमरामैन विक्रांत सिंह ठाकुर को भारतीय दंड संहिता की धारा 456 के तहत एक साल के कठोर करावास और 100-100 रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई है।

उन्होंने बताया कि इसके साथ ही पत्रकार और कैमरामैन को भारतीय दंड संहिता की धारा 353 के तहत छह माह के कठोर कारावास की सजा भी सुनाई गई है। उन्होंने बताया कि यह दोनों सजाएं एक साथ चलेंगी। 

उन्होंने आगे बताया कि 11 अप्रैल 2010 को सीएम शिवराजसिंह चौहान ने दौरे के दौरान सैलाना के पास बेड़दा में रात्रि विश्राम किया, जहां टीवी पत्रकार विजय मीणा व कैमरामैन विक्रांत ठाकुर ने सुरक्षा घेरा तोड़ा और अधिकारियों से हाथापाई की। दरअसल ये दोनों पत्रकार तब से सहारा समय न्यूज नेटवर्क में कार्यरत हैं।

बता दें कि 32वीं बटालियन के प्लाटून कमांडर विजय कुमार माहोर ने शासकीय कार्य में बाधा व हाथापाई के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

वहीं पत्रकार मीणा ने का कहना है कि वह सत्र न्यायालय में अपील करेंगे। निजी परिवाद खारिज होने पर रिवीजन अपील की जाएगी।

  

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com