दैनिक भास्कर ने बताया- कौन-कौन हैं जीवन के 12 अज्ञात शिक्षक....

दैनिक भास्कर ने बताया- कौन-कौन हैं जीवन के 12 अज्ञात शिक्षक....

Tuesday, 05 September, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

भारत में प्राचीन समय से ही गुरु व शिक्षक परंपरा चली आ रही है, लेकिन जीने का असली सलीका हमें शिक्षक ही सिखाते हैं। 'गुरु' का हर किसी के जीवन में बहुत महत्व होता है। समाज में भी उनका अपना एक विशिष्ट स्थान होता है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म-दिवस के अवसर पर शिक्षकों के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए देशभर में शिक्षक दिवस हर साल 5 सितंबर को मनाया जाता है। इसी संदर्भ में दैनिक भास्कर ने अपने कवर पेज पर हमारे दैनिक जीवन के 12 अज्ञात शिक्षकों के बारे में बताया, जो हर पल हमें एक वास्तविक शिक्षक की तरह शिक्षा देते हैं, पढ़िए दैनिक भास्कर की ये विशेष लेख...

मनुष्य चाहे तो अपने जीवन, रिश्तों, आस-पास हो रही घटनाओं, अनुभवों, पशु-पक्षियों किसी को भी शिक्षक मानकर उनसे हर पल कुछ न कुछ शिक्षा ग्रहण कर सकता है। दैनिक भास्कर की नजर में हर मनुष्य के जीवन में 12 शिक्षक होते हैं, जिनसे वह कुछ न कुछ सीखता है, लेकिन इस दृष्टि से कभी उसने इन्हें शिक्षक के रूप में देखा नहीं...   

हमारे प्रथम शिक्षक 

माता-पिता: क्योंकि जीवन में सीखने की शुरुआत हमें वही तो कराते हैं।

सबसे परिवर्तनशील शिक्षक 

अखबार: क्योंकि हर दिन अखबार में घटनाएं बदलती रहती हैं किन्तु सभी हमें प्रभावित करती हैं।

सबसे धैर्यवान शिक्षक 

किताबें: क्योंकि हम उन्हें कभी पूरा तो कभी अधूरा पढ़ते हैं, किन्तु उसमें सीख बनी रहती है।

सबसे आक्रामक शिक्षक 

शत्रु: क्योंकि उसे मात देने के लिए आप हर तरीके से कड़े संघर्ष से खुद को तैयार करते हैं।

सबसे जटिल शिक्षक

विद्यार्थी: क्योंकि विद्यार्थियों को सिखाने के लिए शिक्षक को बहुत सीखना पड़ता है।

सबसे भोला शिक्षक 

प्रिय पशु: क्योंकि बुरा व्यवहार सहने के बाद भी प्रेम से बुलाने पर वह सब भूल दुलार करने लगता है।

अनंत शिक्षक 

घटनाएं: क्योंकि ये अचानक ही आती हैं और जब भी आती हैं एक शिक्षा दे जाती हैं।

सबसे महंगा शिक्षक 

संकट: क्योंकि यह महान शिक्षक है, किन्तु इसकी कीमत चुकाने के बाद फायदा बाद में मिलता है।

सबसे कठोर शिक्षक 

अनुभव: क्योंकि पाठ पढ़ाने से पहले ही यह परिणाम दे देता है।

सबसे कोमल शिक्षक 

बच्चा: क्योंकि जब आप उसके साथ रहते हैं तो आप उसकी तरह बोलने, सोचने व्यवहार करने लगते हैं।

सबसे अचंभित करने वाला शिक्षक 

समय: क्योंकि समय सबकुछ सिखा देता है।

सबसे गहरा शिक्षक

मन: क्योंकि जब भी आप दुविधा में होते हैं तो सबसे पहले यही आपको अच्छे और बुरे की पहचान कराता है।

(साभार: दैनिक भास्कर)

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com