डिजिटल ऐड: गूगल-फेसबुक को विज्ञापन देने वाली कंपनियों पर संकट

Friday, 03 June, 2016

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। भारत में एक जून से ‘गूगल टैक्स’ लागू हो गया है। इस टैक्स ने ऑनलाइन विज्ञापन देने वाली कंपनियों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं, क्योंकि इसका भार सीधा इन कंपनियों पर पड़ रहा है। बता दें कि गूगल टैक्स के दायरे में केवल गूगल ही नहीं आएगी, बल्कि वे कंपनियां जो ऑनलाइन विज्ञापन के लिए पैसे लेती हैं, उन सब पर ये टैक्स लागू होगा, फिर चाहे गूगल हो, फेसबुक हो या फिर यूट्यूब। भारत में एक जून से ऑनलाइन विज्ञापन देना पहले से काफी अधिक मंहगा होगा क्योंकि डिजिटल एडवरटाइजिंग पर 6 फीसदी टैक्स लगेगा। इसी टैक्स को ‘गूगल टैक्स’ कहा जा रहा है। गूगल, फेसबुक और लिंक्डिन ऐसी ऑनलाइन कंपनियां हैं जहां अरबों के विज्ञापन दिए जाते हैं परंतु इनके ऑफिस भारत में न होने पर सरकार को इनकी कमाई पर कोई टैक्स नहीं मिलता। अब सरकार इनसे टैक्स वसूलना चाहती है। एक जून से जो भी भारतीय कंपनियां अब गूगल और फेसबुक पर विज्ञापन देंगी, उन्हें 6 फीसदी टैक्स  देना होगा। इस टैक्स के बाद एक दूसरा पहलू उभरकर आया है जिसके अनुसार इस तरह का टैक्स लगने के बाद इन विज्ञापनों के मंहगे हो जाने के कारण कंपनियां ऑनलाइन विज्ञापन देने में कमी कर दें। 64 प्रतिशत कंपनियां (जो कि स्टार्टअप्स हैं) इस तरह के विज्ञापनों में कमी ला सकती हैं। जब कंपनी को ऑनलाइन ऐड देने में अरितिरक्त रूप से 6 प्रतिशत का टैक्स भी देना पड़े तो वह एड देने पर फिर से विचार कर सकती है। यूरोप के कई देशों में इस तरह का टैक्स आम है। भारत सरकार भी इस टैक्स के तहत कमाई का एक और जरिया चाहती हैं परंतु स्टार्टअप कंपनियों को इससे मुश्किल हो जाएगी।   समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



Copyright © 2017 samachar4media.com