अब इस तरह fake news पर लगाम लगाएगी Facebook

Wednesday, 18 January, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

न्‍यूज इंडस्‍ट्री के साथ अपने रिश्‍तों को मजबूती प्रदान करने के लिए ‘फेसबुक’ (Facebook) ने पिछले हफ्ते ‘जर्नलिज्‍म प्रोजेक्‍ट’ (Journalism Project) लॉन्‍च किया है।

फेसबुक ने यह भी निर्णय लिया है कि अपने प्रॉडक्‍ट तैयार करने में न्यूज ऑर्गनाईजेशन के साथ मिलकर काम करेगी और अच्छा पार्टनर बनने के लिए पत्रकारों से सीखने के साथ पब्लिशर्स से जानेगी कि डिजिटल एज में पाठकों को किस तरह ऐसी जानकारी दी जाए जिसकी उन्हें जरूरत है। इसके अलावा फर्जी खबरों (fake news) को रोकने के लिए और उनके स्‍थान पर सख्‍त सत्‍यापन प्रक्रियाओं (strict verification procedures) के लिए फेसबुक ‘फर्स्‍ट ड्राफ्ट’ (First Draft) के साथ अपनी प्रतिबद्धता (commitment) को और बढ़ाएगी।

‘फर्स्‍ट ड्राफ्ट’ 80 से ज्‍यादा पब्लिशर्स को मिलाकर बनाया गया एक प्‍लेटफार्म है जो एक साथ मिलकर काम करते हैं और लोगों का मार्गदर्शन करते हैं कि कैसे सोशल वेब से कंटेंट को लिया जाए, वेरीफाई किया जाए और उसे पब्लिश किया जाए। फेसबुक उन्‍हें एक वर्चुअल वेरिफिकेशन कम्‍युनिटी (virtual verification community) के साथ अन्‍य अन्य चीजों को तैयार करने में भी मदद करेगी।

थर्ड पार्टी फैक्‍ट चेकिंग आर्गनाइजेशंस के साथ काम करने के लिए कंपनी ने हाल ही में एक प्रोग्राम भी लॉन्‍च किया था। इससे फेसबुक पर अफवाहों (hoaxes) पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी।

फेसबुक के उत्पाद निदेशक फिजी सिमो (Fidji Sim) ने एक ब्‍लॉग में कहा, ‘किसी भी अन्‍य प्‍लेटफार्म की तुलना में यह समस्‍या काफी बड़ी है और इसे कम से कम करने के‍ लिए हम सभी का साथ मिलकर काम करना काफी महत्‍वपूर्ण है।’

इसके अलावा न्‍यूज इंडस्‍ट्री के साथ मिलकर फेसबुक इस दिशा में भी योजना बना रही है कि लोकल न्‍यूज को सोशल मीडिया साइट पर कैसे शेयर और डिस्‍प्‍ले किया जाए। यह अपने पार्टनर्स के लिए स‍बस्क्रिप्‍शन मॉडल्‍स और मुद्रीकरण विकल्‍पों (monetisation options) को बढ़ाने के लिए नए तरीके तलाशने पर भी काम करेगी। ग्‍लोबल स्‍तर पर कंपनी एक प्रोग्राम भी लॉन्‍च करेगी जहां फेसबुक के इंजीनियर्स न्‍यूज आर्गनाइजेंशस के डेवलपर्स के साथ सेशंस को होस्‍ट करेंगे ताकि इस दिशा में और अवसर तलाशे जा सकें और हैकिंग की समस्‍या को दूर किया जाए सके।

इसके अलावा फेसबुक अपने लाइव (live) 360,  इंस्‍टेंट आर्टिकल्‍स (Instant articles) को न्‍यूज इंडस्‍ट्री की जरूरतों के अनुसार तैयार करेगी। अपनी पोस्‍ट में सिमो का कहना है, ‘हम इंस्‍टेंट आर्टिकल्‍स को लेकर टेस्टिंग शुरू करने जा रहे हैं ताकि कोई भी रीडर एक बार में अपने पसंदीदा न्‍यूज आर्गनाइजेशंस की कई स्टोरी को देख सके।’

फेसबुक पत्रकारों के लिए ई लर्निंग कोर्स की सीरिज भी चला रही है ताकि वे फेसबुक प्रॉडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल सीख सकें। फेसबुक अपनी इस ट्रेनिंग को नौ अन्‍य भाषाओं में भी शुरू करेगी और पत्रकारों के लिए जल्‍दी ‘Poynter’ के साथ पार्टनरशिप में एक ‘सर्टिफिकेट करिकुलम’ (certificate curriculum) लॉन्‍च करेगी।

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com