विवेक शुक्ला का इंडियन एक्सप्रेस से सवाल: क्या वेज बोर्ड के अनुसार पगार मिलती है वहां? विवेक शुक्ला का इंडियन एक्सप्रेस से सवाल: क्या वेज बोर्ड के अनुसार पगार मिलती है वहां?

विवेक शुक्ला का इंडियन एक्सप्रेस से सवाल: क्या वेज बोर्ड के अनुसार पगार मिलती है वहां?

Wednesday, 08 November, 2017

एंटी ब्लैक मनी डे के दो दिन पहले इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने कर छूट पाने वाले देश (टैक्स हैवेंस) में भारतीय कारोबारियों के निवेश पर बड़ा खुलासा किया। अखबार के मुताबिक, बरमूडा की एप्पलबे फर्म से 714 भारतीयों का नाम जुड़ा हुआ है। इन नामों में राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत, कांग्रेस नेता सचिन पायलट, पी चिदंबरम के बेटे कार्ती चिदंबरम, मोदी सरकार में राज्यमंत्री जयंत सिन्हा व राज्यसभा सासंद आर.के. सिन्हा, मीडिया लॉबिस्ट नीरा राडिया, कारोबारी विजय माल्या और बॉलिवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन जैसे कई नाम शामिल हैं।

पनामा पेपर्स खुलासे के 18 महीने बाद इंडियन एक्सप्रेस ने एक बार फिर इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इनवेस्टिगेतटिव जर्नलिस्ट (आइसीआइजे) के साथ मिलकर इन नामों का खुलासा किया है। दुनिया भर की 96 न्यू़ज़ संस्थाओं ने आइसीआ़इजे के साथ मिलकर यह विश्वस्तरीय खुलासा किया है। इस खुलासे में सासंद आर.के.सिन्हा का नाम लिए जाने पर वरिष्ठ पत्रकार विवेक शुक्ला ने अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिए इंडियन एक्सप्रेस पर सवाल उठाए हैं। उनका ये पोस्ट आप नीचे पढ़ सकते हैं-

इंडियन एक्सप्रेस- गलती करने पर माफी मांगना भी सीख लो

पहली बार आर.के.सिन्हा जी से जब मुलाकात हुई थी, तब वे देखने में इसी तरह के लगते थे जैसे वे इस फोटो में दिखाई दे रहे। वे हिन्दुस्तान टाइम्स हाउस में आते थे अपने दोस्तों से मिलने। ये 20-25 साल पुरानी बातें हैं। तब उनसे दोस्ती हुई थी। उसके बाद संबंध घनिष्ठ होने लगे।

इसी क्रम में पता चला कि वे जेपी आंदोलन से जुड़े थे, भारत-पाकिस्तान युद्ध को धर्मयुग के लिए कवर किया और फिर अपनी सिक्युरिटी एजेंसी खोली। जरूरत पड़ी तो खुद भी गार्ड बने।

अब इंडियन एक्सप्रेस ने उन पर पैराडाइज पैपर्स के हवाले से आरोप लगाए हैं। उनमें कितनी सच्चाई है, इसका पता चल जाएगा। मुझे तो सिर्फ इतना कहना है कि जो शख्स एक लाख से अधिक पूर्व सैनिकों को रोजगार दे रहा है, क्या वो करप्शन करेगा?

क्या इस देश में धनी होना अपराध हो गया है?

दो सवाल इंडियन एक्सप्रेस से भी। क्या वहां पर वेज बोर्ड की सिफारिशों के अनुसार कर्मियों को पगार मिलती है? क्या इंडियन एक्सप्रेस माफी मांगेगा कि उसकी एनडीटीवी के बिकने की खबर गलत निकली?  

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



Copyright © 2017 samachar4media.com