इन 9 चैनलों को मिली ‘MIB’ की मंजूरी, 2 के लाइसेंस कैंसल

इन 9 चैनलों को मिली ‘MIB’ की मंजूरी, 2 के लाइसेंस कैंसल

Thursday, 10 August, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (MIB) ने जुलाई में नौ टीवी चैनलों को लाइसेंस जारी किए हैं। अब देश में सरकार की अनुमति पाने वाले चैनलों की संख्‍या बढकर 890 हो गई है। इन चैनलों में आठ कंपनियों के सात नॉन न्‍यूज और दो न्‍यूज लाइसेंस शामिल हैं। इनमें से सात कंपनियों को एक-एक जबकि वॉयकॉम 18’ (Viacom18) को दो लाइसेंस मिले हैं।

वॉयकॉम 18को ‘My Cam’ और ‘The Office’ नाम से नॉन न्‍यूज कैटेगरी में दो अपलिंकिंग लाइसेंस मिले हैं। ये दोनों लाइसेंस अंग्रेजी-हिन्‍दी और अन्‍य भारतीय भाषाओं के लिए दिए गए हैं। ‘Lex Sportel Vision’ कंपनी को हिन्‍दी और अंग्रेजी भाषाओं के लिए ‘ATR’ के नाम से नॉन न्‍यूज कैटेगरी में एक अपलिंकिंग लाइसेंस मिला है। बता दें कि डिश टीवी (Dish TV) के सीईओ आरसी वेंकटेश इस कंपनी के डायरेक्‍टर हैं।        

इसके अलावा, ‘Paul E-Commerce’ कंपनी को सभी भारतीय भाषाओं के लिए ‘Pitaara’ के नाम से नॉन न्‍यूज का अपलिंकिंग लाइसेंस दिया गया है। वहीं, तेलुगु न्‍यूज चैनल ‘V6’ के स्‍वामित्‍व वाली कंपनी ‘VIL Media’ को नॉन न्‍यूज कैटेगरी में ‘V6 Ent’ नाम से नॉन न्‍यूज कैटेगरी का लाइसेंस मिला है।

गुजराती, हिन्‍दी, अंग्रेजी और अन्‍य भारतीय भाषाओं के लिए ‘Media Worldwide’ कंपनी को  ‘Travelxp’ नाम से नॉन न्‍यूज कैटेगरी का अपलिंकिंग लाइसेंस हासिल करने में कामयाबी मिली है।

इसके अलावा 25 अगस्‍त को लॉन्‍च होने वाले ‘Cauvery News’ को भी न्‍यूज कैटेगरी के तहत अपलिंकिंग का लाइसेंस दिया गया है। ‘Shopping Zone India TV’ को भी होम शॉपिंग चैनल लॉन्‍च करने के लिए ‘Shop 5के नाम से नॉन न्‍यूज कैटेगरी में अपलिंकिंग लाइसेंस दिया गया है। तेलुगु न्‍यूज चैनल ‘TV5 News’ और ‘Hindu Dharmam’ के नाम से चैनल चलाने वाली कंपनी ‘Shreya Broadcasting’ को ‘TV5 Kannada’ चैनल लॉन्‍च करने के लिए न्‍यूज कैटेगरी का लाइसेंस मिला है।

खास बात यह है कि इस साल जुलाई में सबसे ज्‍यादा टीवी चैनलों को लाइसेंस दिए गए हैं। इससे पहले जून में छह टीवी चैनलों को एमआईबी की ओर से लाइसेंस दिए गए थे। इस साल 31 जुलाई तक मंत्रालय की ओर से 33 टीवी चैनलों को लाइसेंस दिए जा चुके हैं। इनमें जनवरी में सात, फरवरी में चार, मार्च में छह, मई में चार, जून में सात और जुलाई में नौ टीवी चैनलों को लाइसेंस दिए गए हैं। गौरतलब है कि अप्रैल में किसी भी टीवी चैनल को लाइसेंस नहीं दिया गया था। यदि 31 जुलाई तक की बात करें तो एमआईबी की ओर से 1087 प्राइवेट सैटेलाइट टीवी चैनलों को लाइसेंस दिए गए थे, इनमें से 197 लाइसेंस कैंसल कर दिए गए थे। इस प्रकार देश में सरकार की अनुमति वाले टीवी चैनलों के लाइसेंस की संख्‍या फिलहाल 890 है। इनमें 500 नॉन न्‍यूज और 390 न्‍यूज कैटेगरी के चैनल हैं।

वहीं, यदि हम मंत्रालय द्वारा कैंसल किए गए चैनलों की बात करें तो जुलाई में दो और टीवी चैनलों के लाइसेंस कैंसल किए गए हैं। ये दोनों लाइसेंस नॉन न्‍यूज डाउनलिंकिंग कैटेगरी में कैंसल किए गए हैं। जिन चैनलों के लाइसेंस कैंसल किए गए हैं, उनमें ‘Global Broadcasting’ कंपनी का ‘Food First’ के नाम से दिया गया लाइसेंस शामिल है। इसे 23 दिसंबर 2008 को जारी किया गया था। इसके अलावा ‘Travel Channel’ नाम से दिए गए ‘Travel Channel India’ के लाइसेंस को भी कैंसल किया गया है। 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com