जल्द कस सकता है न्यूज पोर्टल्स और डिजिटल मीडिया पर शिकंजा!

Tuesday, 03 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

सूचना-प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने साफ कर दिया कि फेक न्यूज को लेकर सरकार और मीडिया संगठन दोनों ही सख्ती के मूड में है। सोमवार को जारी हुई गाइडलाइंस भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप के बाद वापस ले ली गई हों। लेकिन इस गाइडलाइंस से ये तो साफ हो गया कि इसके भले ही केवल मान्यता प्राप्त पत्रकारों को ही घेरे में रखा गया हो, प्रिंट-टीवी मीडिया को इसके दायरे में लाया गया हो, लेकिन आज फेक न्यूज का सबसे बड़े सोर्स और जनरेटर सोशल मीडिया, न्यूज पोर्टल्स और यूट्यूब ही हैं और इन पर भी फेक खबरें और जानकारियां परोसने वाले अब बचने वाले नहीं है। उनको रेग्यूलेट करने के लिए भी कमेटी गठित की जा चुकी है। ये जवाब अपनी कल की ट्वीट में स्मृति ईरानी ने द हिंदू अखबार की डिप्टी रेजिडेंट एडिटर सुहासिनी हैदर के सवाल के जवाब में दिया।

दरअसल सूचना प्रसारण मंत्रालय ने सोमवार को एक प्रेस रिलीज जारी की कि अगर किसी पत्रकार की न्यूज फेक पाई जाती है, तो पहली बार उसकी मान्यता 6 महीने के लिए, दूसरी बार में 1 साल के लिए और तीसरी बार में पूरी साल के लिए निलम्बित कर दी जाएगी। फेक न्यूज है या नहीं ये प्रिट के लिए प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया और टीवी के लिए नेशनल ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन तय करेगा, वो भी 15 दिन में। दोनों ही संगठन पत्रकारों के है, आम तौर पर इनमें सरकारी दखल नहीं है। हालांकि इसे उठ रहे विवादों के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय से वापस लेने के आदेश दे दिए गए हैं।

ऐसे में अहमद पटेल जैसे नेताओं और सुहासिनी हैदर जैसे पत्रकारों ने सवाल उठाए तो स्मृति ने उनको यही जवाब ट्वीट में दिया कि दोनों संगठनों पर सरकार का कंट्रोल नहीं है। लेकिन सुहासिनी का ये सवाल वाकई में मौजूं था कि सबसे ज्यादा फेक न्यूज परोसने वाली वेब मीडिया का क्या होगासुहासिनी का ट्वीट था-

इस पर भी स्मृति ईरानी ने माना कि अभी तो वाकई में यही है। लेकिन एक कमेटी गठित की जा चुकी है, जो डिजिटल मीडिया, न्यूज पोर्टल को लेकर भी गाइडलाइंस और पॉलिसी बनाएगी और तब तक उन पर ये गाइडलाइंस नहीं थोपी जा सकती है। सुहासिनी को अपने ट्वीट में स्मृति ने लिखा-


इस जवाब से ये जाहिर हो गया है कि डिजिटल मीडिया यानी न्यूज वेबसाइट्स, फेसबुक पेजेज, यूट्यूब चैनल्स, ट्विटर हैंडल्स आदि के जरिए वेब वर्ल्ड में जो भी फेक न्यूज या जानकारी हिट्स, पेज व्यूज बढ़ाने या अपना राजनीतिक एजेंडा चलाने के लिए फैलाई जा रही है, उनकी भी उलटी गिनती जल्द शुरू होने वाली है।


समाचार4मीडिया.कॉ देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबु पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

 



पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com