लंबे इंतजार के बाद ‘IRS 2017’ को लेकर हुई ये घोषणा

लंबे इंतजार के बाद ‘IRS 2017’ को लेकर हुई ये घोषणा

Friday, 12 January, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

इंडियन री‍डरशिप सर्वे’ (IRS) 2017 के आंकड़े जनवरी 2018 के तीसरे हफ्ते में जारी कर दिए जाएंगे। मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल’ (MRUC) और ऑडिट ब्‍यूरो ऑफ सर्कुलेशंस’ (ABC) के संयुक्‍त तत्‍वावधान में गठित द रीडरशिप स्‍टडीज काउंसिल ऑफ इंडिया’ (RSCI)  ने यह घोषणा की है। आईआरएस 2017में चारों तिमाहियों के फील्‍डवर्क को मिलाकर तैयार की गई पूरी रिपोर्ट शामिल होगी।

बताया जाता है कि इंडस्‍ट्री को विश्‍वसनीय और मजबूत आंकड़े उपलब्‍ध कराने के लिए ‘IRS Techcom’, ‘RSCI’, ‘MRUC’ के साथ मार्केट रिसर्च फर्म ‘नील्‍सन’ (Nielsen)  की टीम ने भी अपने स्‍तर से कोई कसर नहीं छोड़ी है।    

टीम ने फील्‍ड विजिट, दोबारा जांच, जीपीएस ट्रैकिंग डिवाइस का इस्‍तेमाल, ऑडियो रिकॉर्डिंग और तिमाही नतीजों के द्वारा स्‍क्रूटनी के स्‍तर को काफी बड़ा रखा था। इसके अलावा मीडिया एजेंसी के कर्मचारियों का भी इसमें काफी सक्रिय सहयोग रहा, जिन्‍होंने आंकड़ों के पुनर्मूल्‍यांकन में काफी मदद की। चारों तिमाहियों के फील्‍डवर्क के डाटा सत्‍यापन का पूरा काम पिछले महीने ही पूरा हुआ था।  

आईआरएस 2017की रिपोर्ट को जारी करने के बारे में ‘MRUC’ के चेयरमैन और डेंट्सू एजिस नेटवर्क (साउथ एशिया) के चेयरमैन व सीईओ आशीष भसीन ने कहा, ‘पिछले तीन साल से आईआरएस डाटा की गैरमौजूदगी ने हमारी इंडस्‍ट्री को कई तरीकों से प्रभावित किया है। बिना विश्‍वसनीय सर्वे के एजेंसियों के लिए अपने प्‍लान को तैयार करना काफी मुश्किल था। एडवर्टाइजर्स और पब्लिशर्स भी इस सर्वे के आधार पर ही अपनी प्‍लानिंग करते हैं। हमें खुशी है कि आईआरएस एक बार फिर लौट आया है और उम्‍मीद है कि यह ग्‍लोबल स्‍तर पर प्रिंट रिसर्च के क्षेत्र में नए मानक स्‍थापित करेगा।

सकाल मीडिया’ (Sakal Media) ग्रुप के चेयरमैन और ‘MRUC’ के वाइस चेयरमैन प्रताप पवार ने कहा, ‘प्रिंट इंडस्‍ट्री काफी बेसब्री से आईआरएस के आंकड़़े जारी होने का इंतजार कर रही थी। इतना धैर्य रखने और इंडस्‍ट्री के सर्वे को अपना पर्याप्‍त सहयोग देने के लिए मैं स्‍टेकहोल्‍डर्स को धन्‍यवाद देना चाहता हूं। आगे भी ‘MRUC’ और ‘IRS’ अपना श्रेष्‍ठ प्रदर्शन करते रहेंगे और इसी तरह आगे बढ़ते रहेंगे।

RSCI’ की मैनेजिंग कमेटी के चेयरमैन और ‘आईपीजी मीडिया ब्रैंड्स’ (IPG Mediabrands) के सीईओ शशि सिन्‍हा का कहना है,‘आईआरएस के अलावा दुनिया में ऐसी कोई दूसरा रीडरशिप सर्वे नहीं है जो भारत जैसे विविध और जटिल मार्केट में तीन लाख से ज्‍यादा घरों से सैंपल उठाता है और बेहतर रिसर्च के लिए डिजाइन की गई नई पद्धति पर काम करता है। मेरा मानना है कि आईआरएस की जो रिपोर्ट आने वाली है, उसको बेहतर बनाने के लिए ‘RSCI Techcom’ और ‘MRUC’ ने काफी मेहनत की है।

DDB Mudra Group’ के एग्जिक्‍यूटिव डायरेक्टर और RSCI’ की टेक्निकल कमेटी के चेयरमैन एनपी सत्यमूर्ति का कहना है, ‘कई महीनों की कड़ी मेहनत के बाद हम ऐसा प्रॉडक्‍ट लेकर आए हैं, जिसके बारे में हमारा मानना है कि यह विश्‍व स्‍तर का है। आईआरएस ने तिमाही दर तिमाही डाटा को और अधिक विश्‍वसनीय बनाने के लिए लगातार नई तकनीक का इस्‍तेमाल किया है और आंकड़ों की जांच करने के बाद हमें यह विश्‍वास है कि यह इंडस्‍ट्री के स्‍टेकहोल्‍डर्स के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होंगे।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



Copyright © 2017 samachar4media.com