इस वजह से अब टीवी चैनलों का सहारा लेगा जम्‍मू-कश्‍मीर का पर्यटन विभाग

इस वजह से अब टीवी चैनलों का सहारा लेगा जम्‍मू-कश्‍मीर का पर्यटन विभाग

Friday, 06 October, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

जम्‍मू-कश्‍मीर के पर्यटन विभाग का मानना है कि विभिन्‍न इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया में दिखाई गई गलत छवि के कारण घाटी का पर्यटन प्रभावित हो रहा है। ऐसे में पर्यटन को बढावा देने व राज्‍य की छवि को सुधारने के लिए विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत वह अब विभिन्‍न भारतीय टीवी चैनलों का सहारा लेगा।

अंग्रेजी अखबार कश्‍मीर रीडर’ (Kashmir Reader) में छपी एक खबर के अनुसार, कश्‍मीर के पर्यटन निदेशक महमूद शाह का कहना है कि विभिन्‍न कार्यक्रमों द्वारा देश के विभिन्‍न भागों में कश्‍मीर के बारे में लोगों को जागरूक किया जाएगा और उन्‍हें यहां की वा‍स्‍तविक स्थिति से अवगत कराया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि इस बारे में सरकार के समक्ष प्रस्‍ताव रखा गया था, जो अब लागू होने की स्‍टेज में है। जल्‍द ही विभिन्‍न भाषाओं में कार्यक्रम चलाए जाएंगे।

दरअसल, पर्यटन से जुड़े कई लोगों का कहना है कि यह साल घाटी में पर्यटन के लिहाज से बहुत खराब रहा है। अधिकांश होटल और हाउसबोट पूरे साल खाली पड़े रहे हैं। उनका कहना है कि पूरे साल मीडिया के एक धड़े ने प्राइम टाइम बेचने के लिए अपने शो में कश्‍मीर के बारे में ऐसे झूठ दिखाए कि पर्यटक यहां से दूर हो गए।  

शाह ने कहा, ‘अब सरकार ने निर्णय लिया है कि ऐसे तत्‍वों को जवाब दिया जाएगा और राज्‍य की सकारात्‍मक छवि पेश की जाएगी। इसके लिए ऐडवर्टाइजमेंट एजेंसी ‘J Walter Thompson’ कार्यक्रम तैयार करेगी। इसके तहत विभिन्‍न ऑडियंस के लिए कई तरह के कार्यक्रम तैयार किए जाएंगे। इसके अलावा हम सोशल मीडिया पर भी बड़े स्‍तर पर अभियान चलाएंगे। सोशल मीडिया पर हमने कुछ कार्यक्रम संचालित भी किए हैं और लोगों की तरफ से हमें काफी जबर्दस्‍त प्रतिक्रिया मिली है।’  

उन्‍होंने कहा, ‘इसके लिए हमने कुछ फिल्‍म भी बनाई हैं, जिनमें से एक रिलीज हो चुकी है, दूसरी भी जल्‍द ही रिलीज हो जाएगी। हम गुजरात, मुंबई और अन्‍य स्‍थानों पर वहां की मीडिया के साथ मिलकर लोगों को जम्‍मू-कश्‍मीर के बारे में सही जानकारी देंगे। मुझे लगता है कि राज्‍य की छवि खराब करने वालों को जवाब देने के लिए सही सबसे अच्‍छा तरीका है।

गौरतलब है कि जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती कई बार मीडिया पर आरोप लगा चुकी हैं कि मीडिया कश्‍मीर और यहां के लोगों की वास्‍तविक स्थिति को नहीं दिखा रही है। उन्‍होंने यह मुद्दा प्रेस काउंसिल के प्रतिनिधिमंडल के समक्ष भी उठाया था। उन्‍होंने कहना था कि मीडिया द्वारा राज्‍य के बारे में पॉजिटिव रिपोर्टिंग से न सिर्फ लोगों के मन पर अच्‍छा प्रभाव पड़ेगा बल्कि देश के अन्‍य हिस्‍सों के लोगों को भी जम्‍मू-कश्‍मीर व यहां के निवासियों के बारे में बेहतर तरीके से जानने में मदद मिलेगी।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



Copyright © 2017 samachar4media.com