नए साल पर वरिष्ठ पत्रकार के साथ हुआ ये बड़ा हादसा...

Wednesday, 03 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

नए साल के दस्तक देते ही एक और पत्रकार के निधन की खबर सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार सुबह हुई एक सड़क दुर्घटना में कर्नाटक के वरिष्ठ पत्रकार सुरेश जाडर का निधन हो गया। दुर्घटना के बाद गंभीर हालत में उन्हें कर्नाटक के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां सोमवार की रात वे अपनी जिंदगी की जंग हार गए।

48 वर्षीय सुरेश जाडर पिछले 20 वर्षों से भी अधिक समय से पत्रकारिता के क्षेत्र सक्रिय रूप से कार्यरत थे। वे प्रजावणी, ‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस व कई अन्य अखबारों में काम कर चुके थे। हाल ही में वे हबबाली में कन्नड़ दैनिक समयुक्त कर्नाटक के साथ जुड़े थे।

यह हादसा तब हुआ जब वे अपनी बाइक से कार्यालय जा रहे थे। खबरों की मानें तो सामने से आ रही एक अन्य बाइक से बचने के प्रयास में वे असुतंलित होकर गिर गए, जिससे उन्हें सिर पर गंभीर चोटें आईं। आनन-फानन में उपचार के लिए पहले एक जर्मन हॉस्पिटल ले जाया गया, इसके बाद उन्हें एक अन्य निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां सोमवार रात उनका निधन हो गया।

हबबाली और धारवाड़ में प्रेस और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सदस्यों ने उन्हें श्रृद्धांजलि देने के लिए शोक सभा आयोजित की। धारवाड़ जिला यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स (डीडीयूजेजेजे) के सदस्यों ने उनकी सादगी और विनम्रता को याद किया। जाडर ने बेंगलुरु, हबबाली, धारवाड़, बल्लारी और मंगलूरु में काम किया था।

कर्नाटक विश्वविद्यालय के पत्रकारिता और जनसंचार विभाग ने भी उनके निधन पर एक शोक सभा का आयोजन किया। दरअसल वे कर्नाटक विश्वविद्याल के पूर्व छात्र थे। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार की शाम किया गया।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2017 samachar4media.com