इस महिला पत्रकार को देख जब दुनिया रह गई दंग...

Tuesday, 06 October, 2015

समाचार4मीडिया ब्यूरो इसे पत्रकारिता के प्रति जुनून कहें, या फिर काम के प्रति दवाब कि एक महिला पत्रकार, जिसका पूरा चेहरा पट्टियों (बैंडेज) के पीछे छिपा है और वह ग्रेनेड हमले में घायल होने के कुछ देर बाद ही फिर से रिपोर्टिंग के लिए वापस लौट आई। woman-jornalistदरअसल इजरायल के पूर्वी जेरुसलम में प्रदर्शनकारियों और इजरायली पुलिस के बीच हुई झड़प के दौरान ग्रेनेड हमले में लेबनन स्थित अल-मायादीन टीवी की एक अरब-इजरायली रिपोर्टर हना महमीद घायल हो गईं। जब वे दोबारा से टीवी पर रिपोर्टिंग के लिए आईं तो दुनिया दंग रह गई, उनके चेहरे और गर्दन के आधे हिस्से पर पट्टियां (बैंडेज) बंधी थीं। रिपोर्टिंग के दौरान ही ग्रेनेड फटने से रिपोर्टर का चेहरा और गर्दन का कुछ हिस्सा जल गया था। स्थानीय लोगों ने प्राथमिक इलाज के लिए तुरंत उसे अस्पताल पहुंचाया। महमीद के एक सहकर्मी ने स्थानीय मीडिया को बताया कि महमीद इस हमले में गंभीर रूप से तो घायल नहीं हुईं, लेकिन उनके चेहरे और गर्दन का बाया हिस्सा ग्रेनेड फटने से जल गया और डॉक्टर ने उन्हें जल्द ठीक होने के लिए काम से दूर रहने की सलाह दी है। खबरों के मुताबिक, ऐसा कहा जा रहा है कि चैनल द्वारा उस पर दवाब बनाया गया था कि वह तुरंत ऑनएयर हो। दरअसल महमीद के सहकर्मी ने ही इस बात की जानकारी दी कि उसे रिपोर्टिंग जारी रखने के लिए मजबूर किया गया था, जबकि टीवी स्टेशन के अन्य रिपोर्टर भी मौजूद थे, जिन्हें काम करने की अनुमति दी जा सकती थी। बता दें कि पूर्वी जेरूसलम स्थित अल-अक्सा मस्जिद परिसर में रविवार को इजरायली पुलिस के दाखिल होने के बाद तनाव बढ़ गया। फिलिस्तीनियों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हो गई। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी परिसर में घुस गए। फिलिस्तीनियों ने उन पर पत्थर और ग्रेनेड फेंके। इस दौरान ही रिपोर्टिंग करते समय महिला पत्रकार घायल हो गईं। विडियो: देखें रिपोर्टिंग कौ दौरान कैसे घायल हुई पत्रकार:

 

 

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com