जिंदगी की जंग हार गया युवा पत्रकार विकल्प त्यागी...

जिंदगी की जंग हार गया युवा पत्रकार विकल्प त्यागी...

Thursday, 08 February, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

युवा पत्रकार विकल्प त्यागी का गुरुवार सुबह निधन हो गया। वह पिछले कुछ दिनों से पीलिया से ग्रसित था। विकल्प बहुत ही कम उम्र में दुनिया को अलविदा कह गया। उनकी उम्र मात्र 28 वर्ष की  थी। विकल्प इन दिनों नेशनल वॉयस न्यूज चैनल में प्रड्यूसर के तौर पर कार्यरत थे।

मूल रूप से यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले विकल्प त्यागी ने इंदौर के देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की पढ़ाई की।

उनके आकस्मिक निधन पर वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने बीते दिनों को याद कर उसे श्रृद्धांजलि दी। पढ़िए वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम का ये पोस्ट-

प्यारा सा ये लड़का इस दुनिया में नहीं रहा। विकल्प त्यागी नाम था उसका। फेसबुक पर उसने Zypsy's Story के नाम से प्रोफ़ाइल बना रखी थी। यक़ीन नहीं हो रहा कि इस उम्र में वो दुनिया को अलविदा कह गया। दिसंबर के आख़िरी हफ़्ते में मैं लखनऊ गया तो उससे मिलने उसके दफ़्तर गया था। उसकी सेहत को लेकर उसे झिड़का भी था। वो मेरी बातें सुनता रहा फिर पढ़ने-लिखने की बातें करने लगा। मुझसे पूछने लगा कि सर, आजकल आप क्या पढ़ रहे हैं? फिर अपनी बताने लगा। बीएजी के मीडिया स्कूल में पहली मुलाक़ात से अब तक विकल्प त्यागी से जुड़ी इतनी यादें हैं कि उसके जाने का ग़म परेशान कर रहा है।

जब कभी फेसबुक पर मैं किसी से बहस करता था और जवाब में कोई अभद्र टिप्पणी करता तो वो मुझे मैसेज करता था। मुझसे आधी उम्र का होकर भी मुझे समझाता था कि आप सोशल मीडिया पर किसी से बहस में मत उलझिए। किताब लिखिए। कुछ बड़ा करिए। आप मेरे गुरु हैं इसलिए आपको कोई ऐसे कुछ कह देता है तो मुझे ठीक नहीं लगता है। मैं उसकी बात मानने की कोशिश भी करता था। मैं जब डिबेट शो करता था तो वो एक दर्शक और आलोचक की भूमिका में हमेशा अपना फ़ीडबैक देता था। मुझे उस लड़के में हमेशा एक क़िस्म की बेचैनी दिखती थी। 

मीडिया छात्र के रुप में उससे पहली मुलाक़ात शायद 2010-2011 में हुई थी। पहली मुलाक़ात में ही उसने मुझे प्रभाव में ले लिया। वो काफ़ी देर तक मुझसे निर्मल वर्मा पर बात करता रहा। मैंने भी उसी की उम्र में निर्मल वर्मा का उपन्यास और यात्रा संस्मरण और कहानियाँ पढ़ी थी। फिर हम अक्सर चीड़ों पर चाँदनीसे लेकर कौवे और काला पानी’, ‘वे दिन’ , ‘रात का रिपोर्टरसे लेकर पिछली गर्मियों में’, ‘लाल टीन की छतऔर अंतिम अरण्यतक पर बातें करते। दुनिया जहान की किताबों पर बात करने का वो बहाना खोजता था। कई बार वो विदेशी लेखकों की कोई ऐसी किताब पर बात करने लगता , जो मेरा पढ़ा नहीं होता तो मैं बचने लगता था।

पूरे क्लास में सबसे अलग था विकल्प। दिखने में , पहनावे में , हुलिया में।.लंबे बाल और बेतरतीब दाढ़ी रखने पर भी कई बार मैं गार्डियन की तरह टोकता था और वो सुनकर हँसता रहता। उन्हीं दिनों मेरे बर्थ डे पर अपने दोस्तों के साथ केक लेकर अ गया। खिलाया भी और लगाया भी। मैंने भी शरारती बच्चे का तरह विकल्प के चेहरे पर केक का लेप चढ़ा दिया। उसने तस्वीरें खिंचवाई और फेसबुक डाल दिया। 
मैं हमेशा उसे सिर्फ त्यागी बोलता था। उसका साथ मुझे ऊर्जा देता था। मस्तमौला , बिंदास, प्रतिभाशाली। हाँ, एक ख़ामी थी उसमें में। मैं उसके लिए उसे प्यार से अधिकार के साथ हड़काया रहता था कि ये छोड़ दो। आख़िरी बार मिला था, तब भी। मुझे उसके न होने की सूचना भी फेसबुक पर उसके दोस्तों की पोस्ट से ही मिली। पता नहीं कैसे क्या हुआ कि वो इस दुनिया को अलविदा कह गया। मैं उसके फेसबुक पेज पर उसकी तस्वीरें देख रहा था। उसका अल्बम उसकी शख़्सियत के रंगों का कोलाज है। इन्हीं तस्वीरों में एक मैं भी था।

ख़ैर नियति ने उसकी उम्र की मियाद बहुत कम तय कर दी थी। विकल्प , मेरे दोस्त।..बहुत याद आओगे 


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com