कई जगह पत्रकारों ने किया विरोध प्रदर्शन, केंद्र से मांगी ये रिपोर्ट...

कई जगह पत्रकारों ने किया विरोध प्रदर्शन, केंद्र से मांगी ये रिपोर्ट...

Tuesday, 03 October, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

देश में पत्रकारों की हत्या, धमकी और हिंसा के बढ़ते मामलों को लेकर सोमवार को प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में तमाम पत्रकार एकत्रित हुए। इस दौरान पत्रकारों ने देश में हाल में मीडियाकर्मियों की हत्याओं के मामले को गृह मंत्रालय के समक्ष उठाने का फैसला किया। साथ ही विभिन्न राज्यों में मीडियाकर्मियों के खिलाफ हमलों पर रिपोर्ट की मांग भी की।

महात्मा गांधी की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में प्रदर्शनकारी पत्रकारों ने काली पट्टी पहनकर प्रेस क्लब से वीमेंस प्रेस कार्प्स (आईडब्ल्यूपीसी) कार्यालय तक मार्च निकाला और प्रेस की आजादी की मांग की। इस विरोध मार्च में पत्रकारों ने बड़े पैमाने पर शामिल होकर लगातार मीडियाकर्मियों पर हो रहे हमलों पर चिंता व्यक्त की।

दिल्‍ली के अलावा उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, अरुणाचल प्रदेश समेत कई अन्य राज्यों के अलग-अलग शहरों में भी पत्रकारों ने शांति मार्च निकाला। इस सिलसिले में जगह जगह संगोष्ठियों के साथ मानवश्रृंखला बनाकर विरोध दर्शाया गया। दिल्ली में ये कार्यक्रम प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, फेडरेशन ऑफ प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, आईडब्लूपीसी, प्रेस असोसिएशन, केरला यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट और इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन के तत्वावधान में पत्रकारों ने काली पट्टी हांथ में बांध कर शांति मार्च निकाल कर विरोध जताया। सांकेतिक विरोध के जरिये ये संदेश देने की भी कोशिश की गई कि अहिंसा के देश में पत्रकारों पर हो रहे हमलों को अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

प्रेस क्लब के अध्यक्ष गौतम लाहिड़ी ने कहा कि याचिका पर सैकड़ों पत्रकारों ने हस्ताक्षर किए जिसे पांच अक्टूबर को गृह मंत्रालय को सौंपा जाएगा। उस दिन देशभर के विभिन्न प्रेस क्लबों के अध्यक्ष बैठक करेंगे और भविष्य की कार्रवाई की रूपरेखा तैयार करेंगे।

आईडब्ल्यूपीसी की उपाध्यक्ष टी.के. राजलक्ष्मी ने कहा कि हाल में बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश और त्रिपुरा में युवा संवाददाता शांतनु भौमिक की हत्या पर गुस्सा जाहिर करने के लिए देशभर में प्रेस क्लब से संबद्ध निकायों ने इसी तरह से प्रदर्शन किए और यह जिला स्तर पर भी किए गए।

पीसीआई, आईडब्ल्यूपीसी, फेडरेशन ऑफ प्रेस क्लब्स इन इंडिया, प्रेस असोसिएशन केरल यूनियन ऑफ वार्किंग जर्नलिस्ट और इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन ने एक संयुक्त बयान में कहा कि सैकड़ों पत्रकारों के हस्ताक्षर वाले ज्ञापन को गृहमंत्री को सौंपा जाएगा और विभिन्न राज्यों में पत्रकारों पर हमले पर स्थिति रिपोर्ट और इस संबंध में कार्रवाई के लिए उनके हस्तक्षेप की मांग करेंगे।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com