पत्रकार से पुलिस बने पिता को बेटी ने दी मुखाग्नि , डेथ सर्टिफिकेट पर आपत्ति

पत्रकार से पुलिस बने पिता को बेटी ने दी मुखाग्नि , डेथ सर्टिफिकेट पर आपत्ति

Monday, 30 November, -0001

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

यूं तो आज के बदलते परिवेश में बेटे और बेटी में फर्क अब कुछ हद तक कम हो चला है, लेकिन आमतौर पर जब भी किसी की मौत होती है तो उसे मुखाग्नि देने का हक या तो बेटे या भाई को दिया जाता हैलेकिन समाज के सारे बंधन तोड़ते हुए जब पूर्व पत्रकार व यूपी एटीएस के अधिकारी राजेश साहनी की एकलौती बेटी श्रेया ने उन्हें मुखाग्नि दी तो वह बिलख पड़ी और यह देख वहां मौजूद हर एक शख्स की आंखें भर आईं।

जिस पिता के कंधों पर बेटी श्रेया खेलकर बड़ी हुई थी। बुधवार को उसी पिता की अर्थी को उसने मुखाग्नि देकर बेटे का फर्ज निभाया। उसने अपने पुलिस अफसर पिता को सलामी भी दी। राजेश साहनी का अंतिम संस्कार बुधवार को लखनऊ के भैंसाकुंड में किया गया। सुबह 11 बजे पुलिस लाइन में राजेश के पार्थिव शरीर को पुलिस कर्मियों ने अंतिम सलामी दी। डीजीपी ओम प्रकाश सिंह और एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार समेत कई बड़े अफसरों ने उन्हें कंधा दिया। अंतिम संस्कार से पहले पुलिस लाइन में एएसपी राजेश साहनी को श्रद्धांजलि देते हुए गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।



ये भी पढ़ें- पत्रकार से पुलिस अधिकारी बने राजेश साहनी ने खुद को मारी गोली...

ये भी पढ़ें- पूर्व पत्रकार राजेश साहनी की मौत पर मीडिया मित्रों ने यूं किया याद...

पौने बारह बजे भैसाकुंड घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। साहनी के अंतिम दर्शन के लिए बड़ी संख्या में पुलिस व अन्य विभागों के अफसर व उनके दोस्त-रिश्तेदार एकत्र हुए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। वहीं इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार उमेश उपाध्याय, शाज़ी ज़मां और विनोद कापड़ी भी मौजूद रहे।

उनके साथ काम करने वाले पत्रकार विनोद कापड़ी ने उनकी मौत पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘राजेश की मौत की जांच होनी चाहिए। वे कभी आत्महत्या नहीं कर सकते। उनके जैसा जिंदादिल इन्सान जिंदगी से कभी हार नहीं सकता है।


गौरतलब है कि पुलिस अफसर बनने से पहले राजेश टीवी न्यूज चैनल में काम करते थे। वे जी न्यूज के साथ उसके असाइमेंट डेस्क पर काम कर चुके थे। ऐसा बताया जा रहा है कि 29 मई को एटीएस के एएसपी राजेश साहनी ने अपने ही ऑफिस में ग्लास्को पिस्तौल से खुद को गोली मार ली थी। उस वक्त दोपहर के बारह बज कर पैंतालीस मिनट हो रहे थे। राजेश ने अपने ड्राईवर मनोज को कह कर अपने घर से पिस्तौल मंगाई थी। उन्होंने दस दिनों की छुट्टी ले रखी थी। उनकी मौत के बाद अब कई तरह के सवाल उठ रहे हैं, जैसे छुट्टी के बाद भी आखिर राजेश अपने ऑफिस क्यों गए थेक्या उस दिन उनकी अपने किसी सीनियर अफसर से कहा सुनी तो नहीं हो गई थीइत्यादि।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अपनी बेटी के टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस में एडमिशन को लेकर राजेश बहुत खुश थे। 31 मई को उन्हें बेटी के साथ मुंबई जाना था। ऐसे हालात में राजेश के पास आत्महत्या करने की कोई वजह नहीं थीफिलहाल इस तरह के कई सवालों से राजेश साहनी का परिवार भी जूझ रहा है।

बताया जा रहा है कि जब राजेश का डेथ सर्टिफिकेट बन रहा था, तो उस पर मौत की वजह खुदकुशी लिखा था, लेकिन राजेश के पिता प्रेम साहनी ने इस पर ऐतराज जताया, जिसके बाद डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण अज्ञात बताया गया। 

 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

इंडिया न्यूज पर दीपक चौरसिया का 'टू नाइट विद दीपक चौरसिया'

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com