नए ब्रांड में भी हमारी पहचान पुरानी ही रहेगी- नीरज सनन

Monday, 28 May, 2012

एमसीसीएस के बैनर से प्रसारित होने वाले तीनों चैनल स्टार न्यूज, स्टार माझा और स्टार आनंदा को अब नए ब्रांड एबीपी में बदलने के लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई है। एक जून से तीनों ही चैनलों के नाम से स्टार हटकर एबीपी जुड़ जाएगा। कोलकाता जैसे मार्केट में तो एबीपी के कदम पहले से ही मजबूत हैं, बाकी मार्केट में नई पहचान को मजबूत बनाने रीब्रांडिग की तैयारियों पर हमने बात की एमसीसीएस के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट सेल्स एंड डिस्ट्रीब्यूशन नीरज सनन से स्टार न्यूज, स्टार आनंदा, स्टार माझा तीनों ही ब्रॉंड से दर्शक बखूबी परिचित हैं, अब जब आप नई आइडेंटिटी के साथ रहे हैं तो सबसे बड़ा चैलेंज आपको क्या लग रहा है? कोई भी मीडिया चैनल दो पिलर पर खड़ा होता है, आपके चैनल की विश्वसनीयता और उस विश्वसनीयता के माध्यम से बिजनेस बनाना। पिछले कई वर्षों से हमारे चैनल अपने जोनर में सबसे पहले और सबसे विश्वसनीय़ खबरों को लाने वाले चैनल के रूप में स्थापित हैं। और इसी प्रदर्शन के चलते हमारे एडवरटाइजर का हम पर भरोसा है। अब हमारे सामने जो सबसे बड़ा चैलेंज है वह यह कि हम अपनी नई आइडेंटिटी में भी अपने दर्शकों और एडवरटाइजर के साथ उसी पुरानी विश्वसनीयता को बनाए ऱखें। हमें यकीन है कि ऐसा होगा क्योंकि जिस टीम के दम पर हमने इस भरोसे को पाया है वही टीम नई ब्रॉंड आइडेंटिटी में भी हमारे साथ है। स्टार न्यूज अब एबीपी न्यूज। दर्शकों के लिहाज से देखा जाए तो स्टार न्यूज ही एबीपी न्यूज है यह भरोसा बनाए रखने के लिए खास कर न्यूज जोनर में आप कैंपेनिंग के लेबल पर किस रणनीति के साथ चल रहे हैं। पिछले कई वर्षों से जो दर्शक हमारे साथ जुड़े हैं वह हमारे बेहतर कंटेंट की वजह से ही। तो जिस कंटेंट का साथ हम एमसीसीएस के बैनर में चल रहे थे उसी कंटेट पॉलिसी के साथ एबीपी में चलेंगे। दूसरे रिपोर्टर और एंकर जो कि हमारा चेहरा हैं वो हमारे साथ हैं ही। तीसरा चैनल का लुक औऱ हमारा प्रोड्क्ट जो कि इंडस्ट्री में बेंचमार्क है वह पहले की ही तरह है। हमारे कई प्रोग्राम जो स्टार न्यूज की पहचान को और मजबत करते हैं जैसे 24 घंटे 24 रिपोर्टर, सास बहू और साजिश, कौन बनेगा मुख्यमंत्री जैसे कार्यक्रम नए ब्रांड में भी जारी रहेंगे। और पांचवा सबसे मुख्य फैक्टर आपके चैनल का ब्रांड नेम। किसी चैनल का ब्रॉंड नेम पहले के चार फैक्टर जो मैने बताए उनसे निर्धारित होते हैं। एबीपी न्यूज के लिए यह सभी फैक्टर वैसे ही हैं जैसे स्टार न्यूज में थे। केवल नाम बदला है। आप पहले कुछ महीनों जब हमें नए ब्रांड के साथ देखेंगे तो आपको यकीन हो जाएगा कि हमारा केवल नाम बदला है, पहचान वही है। एबीपी कई मार्केट में एक विश्वसनीय ब्रॉड के तौर पर पहले से मौजूद है, लेकिन अभी भी हिंदी और मराठी के कई मार्केट ऐसे हैं जहां एबीपी पकड़ मजबूत नहीं है। इन मार्केट में मजबूती के लिए आप क्या कर रहे है? बिल्कुल। एबीपी न्यूज मार्केट में विश्वसनीय और बेहतर ब्रॉंड है। एबीपी की पहचान निष्पक्ष, निर्भीक और विश्वसनीय रिपोर्टिंग के लिए है। हां यह बात सही है कि एबीपी ब्रॉंड ब्रॉडकॉस्टिंग के क्षेत्र में नया है, लेकिन न्यूज के क्षेत्र में नया नहीं है। इसलिए जिन मार्केट में यह ब्रांड उतना स्थापित नहीं है वहां कदम जमाने में हमें देर नहीं लगेगी। रीब्रांडिंग के लिए आप क्या कर रहे हैं? अभी हमने चार मल्टीमीडिय़ा कम्यूनिकेशन कैंपेन लॉन्च किए हैं। इसमें तीन बीटूसी हैं यानी बिजनेस टू कंज्यूमर और एक बीटूबी यानि बिजनेस टू बिजनेस। बीटूसी में हम अपने दर्शकों को और उन मार्केट को टारगेट कर रहे हैं जहां से हमें रेटिंग मिलती है जैसे हिंदी बेल्ट में एबीपी न्यूज के लिए, पश्चिम बंगाल में एबीपी आनंदा के लिए और महाराष्ट्र में एबीपी मांझा के लिए हम कैंपेन कर रहे हैं। बिजनेस टू बिजनेस कैंपेन में हम अपने उन एडवरटाइजर को फोकस कर रहे हैं जो पिछले काफी लंबे समय से हमारे साथ हैं। रीब्रांडिंग कैंपेन में आपकी थीम क्या है? आपका स्टार नहीं बदला, आपकी न्यूज नहीं बदली, सिर्फ नाम बदला है। इसी थीम को हमने मीडिया के सभी माध्यमों में कैंपेन किया है। जिसमें सभी लीडिंग टेलीविजन चैनल, आउटडोर, प्रिंट, डिजिटल और रेडियो माध्यम के रूप में शामिल हैं। देश की कुछ सबसे बेहतर क्रिएटिव टीम रीब्रॉंडिंग के लिए कैंपेन क्रिएटिव तैयार किया है, जिसे आज से हम सभी लीडिंग मनोरंजन चैनलों पर दिखाएंगे। इसके लिए हमने अपने एंकर्स को ब्रॉंड ऐंबेसडर के तौर पर चुना है, जिससे लोगों में यह भरोसा बढ़ेगा कि सिर्फ नाम बदला है, बाकी सब वही है। रीब्रांडिंग के लिए आपने कितना निवेश किया है? ( हंसते हुए) . यह तो कॉन्फिडेंसियल है, लेकिन मैं आपको इतना बता सकता हूं कि पिछले पांच वर्षों में किसी भी न्यूज ब्रांड की ब्रांडिंग के लिए यह सबसे बड़ा कैंपेन है। समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।    



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com