NDTV के एम्पलॉइज पर छंटनी के बादल, कंपनी ने रखा अपना पक्ष...

NDTV के एम्पलॉइज पर छंटनी के बादल, कंपनी ने रखा अपना पक्ष...

Tuesday, 25 July, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

एनडीटीवी समूह में इन दिनों कुछ ठीक नहीं चल रहा है। कंपनी ने देशभर से कुछ मीडियाकर्मियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है, जबकि एडिटोरियल स्टाफ में से कुछ को टीवी चैनल से मोजो (मोबाइल जर्नलिज्म) में शिफ्ट कर दिया है। अंग्रेजी न्यूज पोर्टल आउटलुक (outlookindia.com) की एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी आजकल आर्थिक बदहाली से गुजर रही है। 

 आउटलुक के मुताबिक,  जिन मीडियाकर्मियों की छंटनी की गई है, उनकी संख्या लगभग 60 से 70  बताई जा रही है। इनमें से 35 कैमरामैन शामिल है, जबकि बाकी का टेक्निकल स्टाफ है और ये सभी ग्रुप के अंग्रेजी व अन्य भाषाई चैनलों में काम करते थे।

वहीं एनडीटीवी ने जारी अपने बयान में कहा, दुनियाभर के अन्य न्यूज ब्रॉडकास्टर की तरह एनडीटीवी भी मोबाइल जर्नलिज्म पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपने न्यूज रूम और रिसोर्सेज का पुनर्गठन कर रही है। एनडीटीवी ने हमेशा प्रारंभिक स्तर पर ही नई टेक्नोलॉजी को ग्रहण किया है और हम (एनडीटीवी) देश का पहला नेटवर्क है, जिसने मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर खबरों को शूट करने के लिए अपने पत्रकारों को प्रशिक्षित किया है। यह सिर्फ कॉस्ट-कटिंग नहीं है, बल्कि यह निश्चित रूप से हमारे लिए किसी भी अन्य बिजनेस की तरह या यूं कहें कि ऑपरेशंस का महत्वपूर्ण फैक्टर है।

मोबाइल जर्नलिज्म का अर्थ बताते हुए कंपनी ने लिखा एक न्यूज कंपनी की प्राथमिकता यही होती है कि वह बिजली से भी तेज और अधिक कुशलतापूर्वक खबरों का प्रसारण करें। एनडीटीवी इस नए मॉडल में स्विच करने के बाद, देश में अन्य न्यूज नेटवर्क भी इसी तरह का प्रशिक्षण देना शुरू कर रहे हैं।

वहीं एनडीटीवी के टेक्निकल स्टाफ के एक सदस्य ने आउटलुक को बताया, ‘छंटनी की प्रक्रिया चल रही है और हम में से ज्यादातर इस बात से डरे हुए हैं कि सूची में कौन-कौन शामिल है और किसकी नौकरी जा सकती है।

 वे कैमरामैन में जो पहले एडिटोलियल टीम के सदस्य थे, अब एचआर ने उन्हें टेक्निकल स्टाफ में कर दिया है। साथ ही मैनेजमेंट और कंसलटेंट के जरिए ऑडिट प्रक्रिया जारी है।

वहीं एक रिपोर्टर के मुताबिक, पिछले पांच से छह महीनों में एनडीटीवी ने धीरे-धीरे मोबाइल फोन का इस्तेमाल शुरू कर कई लोगों का मोजो (मोबाइल जर्नलिज्म)  में ट्रांसफर कर दिया था। वहीं एक अन्य रिपोर्टर ने बताया कि खबरों को शूट करने के लिए कंपनी ने उन्हें कैमरा और स्मार्टफोन दिए थे। एनडीटीवी के रिपोर्टर ने कहा, ‘हमें बताया गया है एडिटोरियल एक अलग तरह के विडियो प्रडक्शन की ओर बढ़ रहा है।

   

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com