NDTV: कहीं नुकसान तो कहीं फायदा

NDTV: कहीं नुकसान तो कहीं फायदा

Thursday, 03 August, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

एनडीटीवी डिजिटल को इस तिमाही में 38 करोड़ रुपये के रेवेन्‍यू में सात करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ है। हालांकि पूरे ग्रुप की बात करें तो यह अभी भी नुकसान में चल रहा है।  

ग्रुप के डिजिटल बिजनेस से रेवेन्‍यू की बात करें तो तिमाही दर तिमाही (quarter on quarter) इसमें मामूली बढ़ोतरी (37 करोड़ रुपये से 38 करोड़ रुपये) हुई है। जबकि पिछली साल यह 23 करोड़ रुपये था और इसमें 65 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। पिछली तिमाही में प्रॉफिट आठ करोड़ रुपये था और इसमें मामूली रूप से कमी (अब सात करोड़) हुई है।  

पिछली साल इसी तिमाही के दौरान बिजनेस में तीन करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। ऐडवर्टाइजिंग से आ रहे बिजनेस की बात करें तो पहली तिमाही काफी धीमी रही थी और जीएसटी के कारण अन्‍य मीडिया बिजनेस ने भी अच्‍छा प्रदर्शन नहीं किया था। इस बार डिजिटल बिजनेस पर 25 करोड़ रुपये खर्च किए गए जबकि पिछली साल इसी तिमाही में 26 करोड़ का खर्च किया गया था। लेकिन उससे पूर्व की तिमाही में यह राशि थोड़ी कम यानी 22 करोड़ रुपये थी।  

ग्रुप के टीवी और संबंधित बिजनेस से 77 करोड़ रुपये के रेवेन्‍यू में से 19 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। जबकि पिछले साल इसी तिमाही में कंपनी को 93 करोड़ रुपये के रेवेन्‍यू में भी इतना ही नुकसान हुआ था।

मीडियानामा डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबकि, इस बावत कंपनी का कहना है कि इस साल एनडीटीवी कंवर्जेंस का बिजनेस बढ़ा है और एक महीने में इसके विजिटर्स की संख्‍या 135 मिलियन हो गई है जो पिछली साल के मुकाबले सौ प्रतिशत ज्‍यादा है। कंपनी ने पेजव्‍यूज के बारे में जानकारी नहीं दी है। हालांकि पिछली तिमाही के दौरान कंपनी का कहना था कि इसके 120 मिलियन यूनिक विजिटर्स हैं और पेजव्‍यूज की संख्‍या एक बिलियन से ज्‍यादा बताई गई थी।    

इस तिमाही में एनडीटीवी ने हाई ट्रैफिक सेगमेंट- रेलवे इंक्‍वॉयरी में भी प्रवेश किया है और ‘RailBeeps’ के नाम से एक वेबसाइट लॉन्‍च की थी। इस पर आईआरसीटीसी से पीएनआर स्‍टेटस, ट्रेन स्‍टेटस और स्‍टेशनों के बीच ट्रेन की स्थिति के बारे में पता लगाया जा सकता है। कंपनी के अनुसार इस साइट पर 12000 से ज्‍यादा भारतीय ट्रेनों की स्थिति पता की जा सकती है। कंपनी के गैजेट वर्टिकल ‘Gadgets360के बारे में भी कोई खबर नहीं दी गई है।

ई-कॉमर्स से भी लगातार हो रहा नुकसान

एनडीटीवी के ई-कॉमर्स बिजनेस में भी लगातार कमी जारी है। इस तिमाही में ई-कॉमर्स बिजनेस से एनडीटीवी को तीन करोड़ रुपये का रेवेन्‍यू मिला है और टैक्‍स के बाद इसे दो करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है। कंपनी ने ई-कॉमर्स बिजनेस में प्रॉडक्टिविटी को बढ़ाने और नुकसान में कमी का दावा किया है।  

महत्‍वपूर्ण हालांकि प्रेस रिलीज में दावा किया गया है कि ये रेवेन्‍यू और लॉस ई-कॉमर्स के लिए हैं। दायर किए गए वित्‍तीय आंकड़ों से पता चलता है कि इस तिमाही में एनडीटीवी का रिटेल/ई-कॉमर्स रेवेन्‍यू 3.18 करोड़ रुपये रहा और सेगमेंट रिजल्‍ट (Profit/Loss before tax, interest and exceptional items) में 9.66 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया गया है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com