साधना ग्रुप का न्‍यूज चैनल लॉन्‍च, निखिल वागले बने एडिटर-इन-चीफ

Monday, 04 January, 2016

समाचार4मीडिया ब्‍यूरो ।। जैसी कि काफी दिनों से चर्चा थी, साधना ग्रुप के स्वामित्व वाला मराठी न्यूज चैनल ‘महाराष्ट्र1’ लॉन्‍च हो गया है। वरिष्‍ठ पत्रकार निखिल वागले को चैनल का एडिटर-इन-चीफ बनाया गया है। इस चैनल की घोषणा पिछले साल की गई थी और फिलहाल यह टेस्‍ट रन पर चल रहा था। यह चैनल साधना ग्रुप की सहायक कंपनी शार्प आई एडवर्टाइज़िंग का हिस्सा है जो साधना न्यूज़, साधना बिहार/झारखंड, तथा साधना मध्य प्रदेश/छत्तीसगढ़ चैनल चलाती है और उसकी मालिक कंपनी है। नया चैनल पहले से ही भीड़ भरे मराठी टीवी न्यूज़ बाज़ार में माहौल को यकीनन गर्माएगा। इस बाज़ार में फिलहाल एबीपी माझा, जी 24 तास और आईबीएन लोकमत प्रमुख खिलाड़ी हैं। सूची में टीवी9 मराठी, मी मराठी और जय महाराष्ट्र जैसे कई अन्य चैनल का नाम भी शामिल है। प्रमोटरों का मानना है कि साधना ब्रांड के तहत नए चैनल का नामकरण न कर महाराष्ट्र1 नाम दिया जाए, जिससे नए चैनल को स्वतंत्र पहचान मिलेगी। चैनल के पुणे, नासिक, नागपुर और नई दिल्ली में कार्यालय हैं जबकि इसका मुख्यालय और स्टूडियो मुंबई में है। चैनल को चलाने वाली टीम भी अन्य मौजूदा चैनलों की प्रबंधन टीम से अलग है। आईबीएन लोकमत के पूर्व सीओओ संजय शर्मा नए चैनल के सीईओ है। आईबीएन लोकमत में एकाउंट्स, वित्त और परिचालन के एवीपी (AVP) बीरेन कंसारा इसके सीएफओ बनाए गए हैं। नई बिजनेस पहल और विशेष प्रोजेक्ट के शॉप सीजे के पूर्व वीपी और हेड अभय ओझा डिस्ट्रीब्यूशन और मार्केटिंग का काम देख रहे हैं। ओझा के अलावा, शर्मा और कंसारा दोनों आईबीएन लोकमत में वागले के सहयोगी थे। कंपनी ने चैनल के प्रबंधन के लिए फियरलेस मीडिया (Fearless Media) नामक एक मार्केटिंग सब्सिडियरी का गठन किया है। शर्मा, कंसारा और संदीप चव्हाण इस कंपनी के डायरेक्टर हैं। चैनल के एडिटर-इन-चीफ निखिल वागले ने बताया, ‘हमने लगभग सभी प्रमुख केबल नेटवर्क के साथ कॉन्ट्रैक्ट किए हैं। लॉन्च के 15 दिनों के भीतर ही हम कई डीटीएच कंपनियों पर भी उपलब्ध होंगे।’ उन्होंने कहा, ‘सभी मौजूदा चैनलों-आईबीएन लोकमत, एबीपी माझा और अन्य मीडिया संस्थानों से कई वरिष्ठ लोग हमारे साथ शामिल हो गए हैं। मेरे पास सबसे अच्छे राजनीतिक और खोजी पत्रकार हैं। हमारे पास युवा और अनुभवी टीम का सही मिश्रण है। हम गंभीर, जन-केंद्रित पत्रकारिता करेंगे। लॉन्च से पहले हमें जिस तरह की प्रतिक्रिया मिल रही है वह बहुत ही रोमांचक है। लोग इस चैनल को देखने के लिए उत्सुक हैं।’ उन्होंने बताया कि अगले कुछ दिनों के भीतर मराठी टीवी उद्योग से एक बड़ी हस्ती मनोरंजन को कवर करने के लिए हमारी टीम के साथ चैनल में शामिल होने जा रही है। मराठी टीवी न्यूज़ जॉनर पहले ही जी 24 तास, एबीपी माझा, आईबीएन लोकमत, टीवी9 मराठी, मी मराठी और जय महाराष्ट्र के साथ भीड़ भरा जॉनर है। नए चैनल के प्रभाव के बारे में वागले ने कहा कि वे एक साल के अंदर शीर्ष स्थिति को टारगेट कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया, ‘मुझे यकीन है कि पहले छह महीने के भीतर हम मराठी न्यूज क्षेत्र में शीर्ष तीन चैनलों में से एक होंगे और लॉन्च के एक साल के भीतर हम शीर्ष के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे।’ वे महाराष्ट्र1 पर अपने दो खास शो शुरू करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं आईबीएन लोकमत के दिनों से अपने लोकप्रिय कार्यक्रमों में से दो शुरू कर रहा हूं ‘आज का सवाल’ (दैनिक बहस शो) और ‘ग्रेट भेट’ (साप्ताहिक साक्षात्कार), ये इसी नाम से शुरू होंगे। ये दोनों शो सबसे ज़्यादा टीआरपी जुटाते थे और लोग चैनल पर इसे नियत समय पर देखना पसंद करते थे। मैं मानता हूं कि वे सारे दर्शक नए चैनल की ओर आ जाएंगे।’ वागले ने कहा कि चैनल देश के संविधान के सिद्धांतों के प्रति जिम्मेदार रहेगा न कि किसी पार्टी के प्रति। एक और न्यूज चैनल की गुंजाइश के बारे में चैनल के सीईओ संजय शर्मा ने कहा, ‘लोगों को अच्छा कंटेंट चाहिए इसलिए हमेशा एक नए चैनल के लिए गुंजाइश बनी रहती है।’ उन्होंने कहा, ‘हम मानते हैं कि हमें काफी दर्शक मिल जाएंगे और हम मराठी जॉनर का विस्तार करने में सक्षम हो जाएंगे।’ उन्होंने कहा, ‘हम टीम और मल्टी टास्किंग के मामले में छोटा आपरेशन चला रहे हैं।’ शर्मा के अनुसार शीर्ष 3 मराठी न्यूज चैनल की वार्षिक विज्ञापन आय (एबीपी माझा, जी 24 तास और आईबीएन लोकमत) 130 से 140 करोड़ रुपए की रेंज में है। उन्होंने कहा, ‘जब हमने आईबीएन लोकमत लॉन्च किया था, तब कुल जॉनर 20 करोड़ रुपये से कम का था। 6-7 साल में, इसने लगातार वृद्धि की है और हम विकास के लिए आगे भी गुंजाइश देखते हैं।’ उन्होंने दावा किया कि ‘महाराष्ट्र1’ एक न्यूज़ चैनल के सभी प्रमुख घटकों को अलग तरीके से पेश करेगा चाहे वह खबर हो, प्राइमटाइम प्रोग्रामिंग या विशेष शो। चैनल प्रमुख डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) और केबल टीवी प्लेटफार्मों पर उपलब्ध हो जाएगा। शर्मा ने अधिक जानकारी देने से इनकार कर दिया क्योंकि बातचीत अभी भी चल रही है। चैनल पर एक घंटे में 16-18 मिनट के विज्ञापन होंगे जो प्रमुख मराठी न्यूज़ चैनल के बराबर हैं। उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र1 को साधना ग्रुप के अन्य चैनलों के साथ बुके के तौर पर नहीं लिया जाएगा, क्योंकि हम इस चैनल के वास्तविक मूल्य का पता लगाना चाहते हैं।’ साथ ही ये भी उल्लेखनीय है कि टीवी न्यूज़ उद्योग में पहली बार यह हो रहा है कि चैनल की कोई ओबी वैन नहीं होगी। इसके बजाय वह बैकपैक का इस्तेमाल करेगा जिससे संवाददाता लाइव खबर रिले कर पाएंगे।



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com