उसने खुद ही बताया कि कैसे मरवाया था पत्रकार को....

उसने खुद ही बताया कि कैसे मरवाया था पत्रकार को....

Friday, 08 September, 2017


देशभर में पत्रकारों के खिलाफ हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। कई पत्रकारों की हत्‍या तक हो चुकी है। ऐसे में आरटीआई कार्यकर्ता अमित तिवारी ने कुछ लोगों पर बेंगलुरु में एक पत्रकार की हत्‍या करने का आरोप लगाया है। अमित के अनुसार, यह बात आरोपियों ने खुद कबूली है और उसके खिलाफ लिखने वाले एक और पत्रकार को मारने की धमकी भी दी है। अकेला ब्‍यूरो ऑफ इंवेस्‍टीगेशन’ (ABI) में इस बारे में विस्‍तार से जानकारी दी गई है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं...  

मुंबई के साकीनाका इलाके में स्थित ओपा बार और कैफे’ (OPA Bar and Café) के मालिक ने ही बेंगलुरु में अकेला ब्‍यूरो ऑफ इंवेस्‍टीगेशन’ (ABI) के एडिटर अकेला (इंवेस्‍टीगेशंस) को मारने की साजिश रची थी।

दरअसल, अमित तिवारी ने सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत अंधेरी ईस्‍ट के साकीनाका स्थित पेनिसुला ग्रैंड होटल में चल रहे ओपा बार और कैफे के बारे में सूचना मांगी थी। इस पर साकीनाका पुलिस स्‍टेशन ने 20 जनवरी 2017 को जवाब दिया कि इस बार के मालिक करुनाकर शेट्टी, सतीश शेट्टी और गौरव शेट्टी के पास किसी तरह का लाइसेंस नहीं है। इस आरटीआई के आधार पर ‘ABI’ ने इस बार की कलई खोलना जारी रखा, इसके बावजूद इसका संचालन जारी रहा और बीएमसी और मुंबई पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की।       

कुछ समय बाद ‘ABI’ ने एक और आर्टिकल प्रकाशित किया, जिसमें इस बार की अनियमितताओं के बारे में खुलासा किया गया था। आरोप है कि इस बार पवई में हीरानंदानी स्थित चंद्रभान कॉलेज के मालिक प्रशांत शर्मा ने अमित तिवारी को धमकी दी थी और उसे किसी भी तरह अकेला को चुप कराने और ‘ABI’ में समाचार प्रकाशित करने से रोकने के लिए कहा। दरअसल, अमित तिवारी की चंद्रभान शर्मा कॉलेज में कैंटीन चलती थी, इसलिए दोनों एक-दूसरे को जानते थे। प्रशांत शर्मा का कहना था कि वह पेनिसुला ग्रैंड होटल, तुंगा होटल और सेवॉय होटल में पार्टनर है, जिसके मालिक करुनाकर, सतीश और प्रभात हैं।

बताया जाता है कि प्रशांत शर्मा एक दिन अमित तिवारी को पेनिसुला गैंड होटल ले गया, जहां पर गौरव और प्रभात शेट्टी मौजूद थे। वह पहले दिवंगत पुलिस इंस्‍पेक्‍टर विजय सालस्‍कर का मुखबिर था। यहां पर प्रभात शेट्टी ने अमित तिवारी से धमकी भरे लहजे में बात की और बताया कि वह बेंगलुरु में कुछ भी कर सकता है। उसने यह भी बताया कि एक पत्रकार उसके बारे में अनाप-शनाप छाप रहा था, इस पर उन लोगों ने साजिश रचकर उसे मार डाला। प्रभात ने यह भी बताया कि उसने दो पक्षों में लड़ाई की सूचना देकर उस पत्रकार को होटल बुलाया था। पत्रकार इस घटना को लाइव शूट करने के लिए पहुंचा था। उसकी पत्‍नी और बेटा बाहर कार में बैठे हुए थे। जब पत्रकार होटल गया तो दोनों पक्षों के लोगों ने एक साजिश के तहत उसे मार डाला था। प्रभात के अनुसार, उन्‍होंने किसी तरह पुलिस को संभाल लिया था।  

यही नहीं, प्रभात शेटी ने यह भी कहा कि वह बेंगलुरु में अकेला के खिलाफ मानहानि का मामला दायर करेगा। जब अकेला कोर्ट की कार्यवाही में भाग लेने आएगा, वे और उसके साथी उसे मार डालेंगे।

प्रभात ने यह भी कहा कि पेनिसुला ग्रुप के दो होटल दुबई में भी हैं और डीकंपनी के लोग उनके यहां आए दिन आते रहते हैं। उसने यह भी बताया कि मुंबई के कई पुलिसवाले, राजनेता और वरिष्‍ठ अधिकारियों के बच्‍चे मुंबई के ओपा बार में आते हैं और उन्‍हें सभी सुविधाएं उपलब्‍ध कराई जाती हैं। अकेला भी होटल में जाकर मुफ्त में इन सुविधाओं का लाभ उठा सकता है।

प्रशांत ने अमित तिवारी को यह भी धमकी दी कि यदि वह ‘ABI’ में न्‍यूज छपवान नहीं रुकवा पाया तो उसकी कैंटीन को कॉलेज से निकाल दिया जाएगा। इसके बावजूद ‘ABI’ ने ओपा बार के खिलाफ दो और आर्टिकल लिखे, जिससे गुस्‍साए प्रशांत शर्मा ने अपने कॉलेज से उसकी कैंटीन को जबरन बाहर कर दिया। अमित तिवारी का कहना है कि अब वह प्रशांत शर्मा और साकीनाका पुलिस स्‍टेशन की सच्‍चाई दुनिया के सामने लाकर रहेगा।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com