‘टाइम्‍स नाउ’ के MD-CEO ने किया ये दावा, Republic पर करारा वार ‘टाइम्‍स नाउ’ के MD-CEO ने किया ये दावा, Republic पर करारा वार

‘टाइम्‍स नाउ’ के MD-CEO ने किया ये दावा, Republic पर करारा वार

Wednesday, 05 July, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।


टेलिविजन रेटिंग एजेंसी ‘ब्रॉडकास्‍ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया’ (BARC) के 24वें हफ्ते (10 जून-16 जून)  के आंकड़ों के अनुसार अंग्रेजी न्‍यूज जॉनर में टाइम्‍स नाउने 0.93 मिलियन इंप्रेशंस के साथ सबसे ज्‍यादा बढ़त हासिल की है।


हालांकि,  बार्क रेटिंग के अनुसार, वरिष्‍ठ पत्रकार अरनब गोस्‍वामी का वेंचर रिपब्लिक टीवीइस कैटेगरी में 0.96 इंप्रेशंस के साथ कई हफ्तों से लगातार नंबर वन की कुर्सी पर बना हुआ है। टाइम्‍स नाउ ने 24वें हफ्ते में अच्‍छी बढ़त हासिल की है और 0.93 मिलियन इंप्रेंशंस हासिल कर लिए हैं।


इस बारे में टाइम्‍स नेटवर्कके एमडी और सीईओ एमके आनंद का कहना है, ‘प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले हमारे नंबर ज्‍यादा हैं क्‍योंकि हम ब्रेकिंग न्‍यूज को लेकर काफी सक्रिय हैं, हमारा फॉर्मेट और पैकेलिंग काफी बेहतर है। इसके लिए अलावा अंग्रेजी न्‍यूज जॉनर में हमारे ब्रैंड की लोगों तक पहुंच ज्‍यादा है और सबसे बड़ी बात यह है कि हम ईमानदार हैं, पूरी तरह स्‍वतंत्र हैं और हमारे विचार भी अपने व संतुलित हैं।



यदि पिछले हफ्ते (03 जून-09 जून) की बात करें तो 0.74 मिलियन इंप्रेंशस के साथ टाइम्‍स नाउ इसी पोजीशन पर बना हुआ था लेकिन रिपब्लिक टीवी और इसकी रेटिंग में अंतर बहुत ज्‍यादा था।


24वें हफ्ते में टाइम्‍स नाउने इस अंतर को काफी हद तक दूर कर लिया है, इस बात से रिपब्लिक टीवीके सीईओ विकास खनचंदानी जरा भी चिंतित नहीं हैं। उनका कहना है, ‘रिपब्लिक ने अपनी पहचान खुद बनाई है और यह देश में अंग्रेजी न्‍यूज प्‍लेटफार्म पर नंबर वन बना हुआ है। टाइम्‍स नेटवर्क अब बड़े शहरों में अपने चैनलों का प्रसारण कर रहा है और यह कोलकाता, पश्चिम बंगाल, चेन्‍नई, मुंबई और दिल्‍ली जैसे शहरों में देखा जा सकता है। इसके बावजूद हम लगातार पिछले छह हफ्ते से नंबर वन बने हुए हैं। इस जॉनर में लोग हमारा चैनल ज्‍यादा देखते हैं जो हमारे प्रति‍द्वंद्वी से लगभग दोगुना है। आप बाजार में तो पहुंच बना सकते हैं लेकिन लोग आपके चैनल को कितना समय देते हैं, इससे आपके कंटेंट की क्‍वॉलिटी का पता चलता है।


वहीं इसके जवाब में आनंद का कहना है, ‘दोनों चैनलों की व्‍युअरशिप में अंतर काफी कम होता जा रहा है क्‍योंकि हमारे प्रतिद्वंद्वी की व्‍युअरशिप कम हो रही है। टाइम्‍स नाउ हमेशा से असली हीरो रहा है। हाल ही में लॉन्‍च हुआ नया चैनल कई तरह के हथकंडे अपनाकर यहां पहुंचा है। ऐसे में मामला हाई कोर्ट तक भी पहुंचा था। अब इस चैनल की पहुंच पहले के मुकाबले काफी कम हो गई है।’


उन्‍होंने कहा, ‘नए चैनल की टाइम स्‍पेंट व्‍युअरशिप (TSV) लॉन्चिंग के बाद से संदिग्‍ध रूप से नंबर वन बनी हुई है। लॉन्चिंग के बाद से यह रोजाना 10.12 मिनट (TG- 22+, AB, M, All India 1 Million+) है। जबकि अन्‍य अंग्रेजी चैनलों की टीएसवी 4 से 6 मिनट है। इसमें टाइम्‍स नाउ की परफॉर्मेंस भी शामिल है। नए चैनल की सबसे ज्‍यादा टीएसवी आश्‍चर्यजनक रूप से कुछ खास मार्केट से आ रही है, इनमें सबसे प्रमुख चेन्‍नई है।’ 


उल्‍लेखनीय है कि विभिन्‍न आरोप लगाते हुए 18 मई को विभिन्‍न अंग्रेजी न्‍यूज चैनल बार्क से हट गए थे, जो बाद में 26 मई के बाद वापस आए थे। 


इस बारे में आनंद विशेष रूप से 19वें हफ्ते (मई 6-122017) को लेकर विभिन्‍न टार्गेट ग्रुप (TGs) में अपनी टीवीटी (Total Viewership in Thousands) का जिक्र करते हैं, जब रिपब्लिक टीवी की रेटिंग पहली बार आई थी। आनंद का कहना है, ‘यह 19वें हफ्ते के बाद की कहानी है और मैंने इस दौरान विभिन्‍न टार्गेट ग्रुप में अपनी टीवीटी का अध्‍ययन किया है। (22+ M, AB, All India (U+R)) में टाइम्‍स नाउ की 1148 टीवीटी ('000) थी और 24वें हफ्ते में यह 935 टीवीटी ('000) है। इसके अलावा ऐडवर्टाइजर्स द्वारा मापे गए टार्गेट ग्रुप की बात करें तो (22+ M, AB, All India 1 million+ Cities) में 19वें हफ्ते में टाइम्‍स नाउ की 622 TVTs ('000) थी जो 24वें हफ्ते में 662 TVTs ('000) हो गई है।


एमके आनंद का कहना है, ‘जैसा कि आप देख सकते हैं, टाइम्‍स नाउ की रेटिंग सुसंगत अैर स्थिर है, क्‍योंकि हमारी पहुंच और समय खर्च करने के मामले में धोखाधड़ी और अवैध रूप से कुछ नहीं किया गया है। अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए हम मल्टीपल लॉजिकल चैनल नंबर्स (LCNs)  का इस्‍तेमाल नहीं करते हैं। इसके अलावा हम बार्क के पैनल मी‍टर में भी किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं करते हैं। हम जैसे दिखते हैं, ठीक वैसे ही हैं।


अपनी वर्तमान स्थिति को लेकर एमके आनंद काफी आश्‍वस्‍त हैं। उनका कहना है, ‘हमारा मानना है कि पिछले पांच हफ्ते कुछ भी नहीं थे लेकिन अब अस्‍थायी रूप से छाये हुए बादल छंट रहे हैं जिन्‍होंने सूरज की रोशनी की तरह हमारे वास्‍तविक नंबरों को छिपा लिया था। हमें अपने व्‍युअरशिप बेस और अपने व्‍युअर्स को संतुष्‍ट करने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों पर पूरा भरोसा है। हम सिर्फ नंबर बढ़ाने के लिए काम नहीं करते हैं बल्कि हम ईमानदारी से अपने व्‍युअर्स के लिए काम करते हैं और अच्‍छा प्रॉडक्‍ट तैयार कर उसका बेहतर तरीके से डिस्‍ट्रीब्‍यूशन में विश्‍वास रखते हैं।


 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



Copyright © 2017 samachar4media.com