Exclusive: ITV Network के एमडी कार्तिकेय शर्मा ने बताई फ्यूचर स्ट्रैटजी, नए चैनल होंगे लान्च

Thursday, 29 September, 2016

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

itvआईटीवी मीडिया नेटवर्क (ITV Media network) के मैनेजिंग डायरेक्‍टर और प्रो रेसलिंग लीग (Pro Wrestling League) के मालिक कार्तिकेय शर्मा सिर्फ किताबी बातें नहीं करते हैं बल्कि वह कुछ कर दिखाने में विश्‍वास रखते हैं।

noor-fathima-warsiaबिजनेस-इकॉनामी की दुनिया की मशहूर पत्रिका बिजनेस वर्ल्ड की सीनियर एडिटर नूर फातिमा वार्सिया से एक बातचीत में कार्तिकेय ने बताया कि कैसे वह आगे बढ़ने के अवसरों को पसंद करते हैं और किस तरह बिजनेस को ऊंचाइयों पर ले जाते हैं।

पहली नजर में देखने पर हमें पता चलता है कि आईटीवी नेटवर्क और इसके बढ़ोतरी के ग्राफ में परंपरागत कुछ भी नहीं है। इसकी शुरुआत एक नेशनल न्‍यूज चैनल और एक अखबार से हुई थी और अब इस पर सभी प्रकार की सामग्री मौजूद है फिर वह चाहे सूचनापरक हो अथवा बच्‍चों के मनोरंजन से संबंधित हो। यही नहीं अब आईटीवी नेटवर्क ने देश के पश्चिमी और उत्‍तर-पूर्वी हिस्‍सों के क्षेत्रीय मार्केट में भी अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करा दी है। इसके साथ ही iTV के प्रमोटरों ने प्रो रेसलिंग लीग द्वारा खेल के क्षेत्र में भी काफी निवेश किया है। अगले साल से iTV अंतरराष्‍ट्रीय पार्टनरशिप करने के साथ ही दक्षिण भारत के मार्केट में पैर जमाएगा।

kartikeya-sharmaहालांकि कार्तिकेय शर्मा के लिए इस सफर को तय करना काफी आसान नहीं रहा लेकिन अपनी दूरगामी सोच और मजबूत इरादों की बदौलत कार्तिकेय शर्मा आज इस सफलता के मुकाम पर हैं। उनका नेटवर्क अपने विभिन्‍न ब्रैंड्स की बदौलत 120 मिलियन लोगों तक अपनी पहुंच बना चुका है।

अपनी सफलता का मूलमंत्र बताते हुए शर्मा का कहना है कि आगे बढ़ने के अवसरों को पहचानो और उसमें पूरी शिद्दत से कूद जाओ।

कार्तिकेय शर्मा आगे कहते है, ‘हमारा ट्रैक रिकार्ड बताता है कि कैसे हमने उन बिजनेस को भी चमका दिया है जो पहले खराब दौर से गुजर रहा था। मात्र दो साल के अंदर हमारी स्‍ट्रेटजी की बदौलत हमारा न्‍यूज नेटवर्क बड़े नेटवर्क में शामिल हो गया है।’ हालांकि उनका पारिवारिक बिजनेस हॉस्पिटेलिटी इंडस्‍ट्री का था लेकिन उन्‍होंने मीडिया को चुना जो आज के समय में आसान बिजनेस नहीं है।

शुरुआत में ऑर्गेनिक कंपनी शुरू करने वाले शर्मा बताते हैं, ‘इंडिया न्‍यूज इसका स्‍पष्‍ट उदाहरण है। हमने इसकी लॉन्चिंग के मात्र चार महीने के अंदर ही 10 प्रतिशत मार्केट शेयर पर कब्‍जा कर लिया था और इसे टॉप तीन की गिनती में ले आए थे। हम आगे बढ़ने के अवसरों को कभी नहीं खोते हैं और न्‍यूजएक्‍स (NewsX) इसका एक स्‍पष्‍ट उदाहरण है। भारत में टेलिविजन के विस्‍तार की काफी संभावना हैं और एक बिजनेसमैन होने के नाते हमारी प्राथमिकता यही है कि हमारे बिजनेस की सभी प्रॉपर्टीज को फायदेमंद होना चाहिए।’

उठाया अलग कदम (Different Strokes)

iTV ने न्‍यूज जॉनर (news genre) से अलग हटकर भी एक नया कदम उठाया  और इसने इस साल की शुरुआत में Trilogic Digital के बड़े स्टेक का अधिग्रहण कर इसका नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया। यह कंपनी हिन्‍दी मूवी चैनल फिल्‍मी (FILMY) और फैशन एंड लाइफ स्‍टाइल चैनल एफटीवी (FTV) का संचालन करती है। अब ग्रुप बच्‍चों के मनोरंजन के लिए ‘Mum Mum TV’ नाम से चैनल शुरू करने के साथ ही सूचना एवं मनोरंजक चैनल (infotainment channel) ‘Insight’ लॉन्‍च करने की तैयारी में है।

शर्मा का कहना है, ‘हमारे नेटवर्क में कई ब्रैंड हैं और सबकी अपनी-अपनी अलग खासियत है। इसमें कुछ भी अप्रत्‍याशित नहीं है हम विभिन्‍न श्रेणी में आगे बढ़ रहे हैं और स्‍पोर्ट्स में निवेश करना भी हमारी इसी स्‍ट्रेटजी का हिस्‍सा है। इस समय प्रो रेसलिंग लीग की लोकप्रियता काफी अच्‍छी है और स्‍पोर्ट्स में यह दूसरा सबसे ज्‍यादा देखा जाने वाला लीग है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इंडिया सॉकर लीग ’ Indian Soccer League’ से यह काफी आगे है और कुछ मार्केट में तो इसने आईपीएल (IPL) को भी पीछे छोड़ दिया है।’

कार्तिकेय बताते  हैं कि आईटीवी के सभी बिजनेस- ब्रॉडकास्‍ट, कंटेंट मैनेजमेंट और लॉजिस्टिक पर है और इनमें से प्रत्‍येक की अपने क्षेत्र पर काफी मजबूत पकड़ है। उनका कहना है, ‘हमारे विस्तृत आकार और क्षमता की बदौलत हम कई ग्रोथ वाले क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति बना रहे हैं। हम लग्जरी, म्यूजिक और एंटरटेनमेंट के फील्ड में कुछ करने का प्लान बना रहे हैं। हमने इंडस्‍ट्री में स्‍थापित कीर्तिमानों को काफी पीछे छोड़ दिया है और अपने निवेशकों से बिना समझौते के धन प्राप्‍त कर रहे हैं। यह तभी संभव है जब आपको पता हो कि आप कहां पर हैं और आप अपने बिजनेस को बेहतर तरीके से समझते हों।’

 डिजिटल की महत्‍वाकांक्षा (Digital Ambition)

kartikeya-sharma1अधिकांश मीडिया कंपनी की तरह आईटीवी का भी मुख्‍य फोकस डिजिटल की ओर है। कार्तिकेय का कहना है, ‘बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए डिजिटल काफी अच्‍छा तरीका है और इस पर भविष्‍य की नींव टिकी हुई है। हमें पता है कि इसमें थोड़े समय में कुछ नहीं होने वाला बल्कि फेसबुक और गूगल की तरह बनने में इसमें कई साल लगेंगे। हमें बिजनेस को काफी सावधानीपूर्वक आगे बढ़ाना होगा।’

शर्मा के अनुसार, ‘आईटीवी इस तरह के प्रॉडक्‍ट तैयार कर रहा है जिन्‍हें लंबे समय तक सहेजा जा सकता है। हम अपने एचडी चैनलों पर थर्ड स्‍क्रीन का प्रयोग करने में जुटे हुए हैं जो सबस्क्रिप्‍शन आधारित है। ‘Sunday Guardian’ को लेकर भी हमारी स्ट्रैटजी थोड़ी अलग है। हमने इसके अधिग्रहण के बाद तीन गुना कवर प्राइस रखा था और एक साल बाद इसे दोगुना कर दिया। हम इसे लेकर पेड वेबसाइट (paid website) तैयार करेंगे। हमें नॉन पेड न्‍यूज कंटेंट भी रखना है लेकिन हमारे अन्‍य प्‍लान की तरह इसकी रणनीति अलग होगी।’

इस अवसर पर कार्तिकेय शर्मा से तीन सवाल भी पूछे गए।

1- हॉस्पिटिलिटी और मीडिया में से कौन सा बिजनेस आपको ज्‍यादा आकर्षित करता है?

: आप जिन बिजनेस की बात कर रहे हैं उनमें से एक मुझे विरासत में मिला है जबकि दूसरे को मैंने खुद सींचा है। हॉस्पिटिलिटी बिजनेस काफी जमा जमाया है और मीडिया बिजनेस मेरा पहला ऑफिस असाइनमेंट था। मैं इस बिजनेस को अच्‍छे से समझता हूं और इसके प्रति मेरे अंदर काफी जुनून है लेकिन मेरी पहली पसंद मीडिया है। इस इंडस्‍ट्री में भी हमने काफी नए ट्रेंड स्‍थापित किए हैं और मार्केट शेयर में भी अच्‍छी बढ़ोतरी की है। इससे हमारा  रेवेन्‍यू और प्रॉफिट भी बढ़ा है। इससे मुझे काफी संतुष्टि मिलती है।

2 – भारतीय मीडिया इस समय काफी कठिन दौर से गुजर रहा है। इस बारे में आपका क्‍या अनुभव रहा है ?

: हम परिस्थितियों से जूझ रहे हैं लेकिन मुझे इसमें काफी संभावना नजर आ रही है। शुरुआती स्‍तर पर टीवी काफी तरक्‍की करेगा। किसी भी ब्रैंड को स्‍थापित करने का यह सबसे अच्‍छा तरीका है। न्‍यूज टेलिविजन काफी अच्‍छा कर रही है। हालांकि कुछ जॉनर में संशोधन करने की जरूरत है। मैं बार्क (BARC) की निष्‍पक्षता, पारदर्शिता और बड़े सैंपल साइज की आकांक्षा के लिए उसका स्‍वागत करता हूं लेकिन इसे सभी सेगमेंट (equitably) को समान रूप से मापने की जरूरत है।

3- क्‍या स्‍पोर्ट्स में किए गए निवेश का लाभ मिल रहा है ?

: गैर क्रिकेट स्‍पोर्ट्स (Non-cricketing sports)  डिजिटाइजेशन के साथ आगे बढ़ेगा। रेसलिंग में हमारे पास काफी अच्‍छी और सांस्‍कृतिक विरासत है और इसलिए इसकी शुरुआत करना काफी सही रहा। लेकिन हम इसे क्रिकेट से परे ले जाकर काफी आगे बढ़ाना चाहते हैं। इसमें सफल होने के लिए यह काफी महत्‍वपूर्ण है कि हमारे पास ऐसा बिजनेस प्‍लान होना चाहिए, जो प्रत्‍येक शेयरधारक के साथ काम करता है। प्रो रेसलिंग में हमें काफी कुछ दिया है और हमें उम्‍मीद है कि इसमें आगे भी काफी बढ़ोतरी होगी।

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com