पत्रकार से बदसलूकी पर मीडिया संगठनो ने बुलाई आपातकाल बैठक, सरकार से की ये मांग...

पत्रकार से बदसलूकी पर मीडिया संगठनो ने बुलाई आपातकाल बैठक, सरकार से की ये मांग...

Thursday, 21 September, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

पुलिस द्वारा पत्रकार पर बदसलूकी का मामला एक बार फिर सामने आया है। यह ताजा मामला अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर का है, जहां मंगलवार को 12 घंटे के राज्यव्यापी बंद को कवर करने गए एक पत्रकार पर पुलिस ने हमला कर दिया। घटना ईटानगर के बैंक तिनाली के पास घटित हुई।

इस दौरान पुलिस ने न केवल पत्रकार का विडियो कैमरा और आईकार्ड छीन लिया, बल्कि उसके बदसूलकी करते हुए उसे पीटा भी। हद तो तब हो गई जब अन्य पत्रकारों के सामने आने के बाद पुलिस ने कैमरा तो वापस कर दिया, लेकिन उसकी सभी विडियो रिकॉर्डिंग डिलीट कर दी।

टीवी चैनल ‘अरुणाचल न्यूज 24X7’ के रिपोर्टर मॉन्गपॉन्ग नातुंग (Mongpong Natung) जब हड़ताल के दौरान बड़े पैमाने पर हुई हिंसा को कवर कर रहे थे, तभी वहां सिविल ड्रेस में एक पुलिसकर्मी आया, जिसकी पहचान बाद में हेड कॉन्स्टेबल रवि सिंह के तौर पर हुई, उसने पहले तो पत्रकार को विडियो बनाने से रोक दिया और फिर धक्का देते हुए उसका विडियो कैमरा और आईडी कार्ड छीन लिया।  

नातुंग के मुताबिक, उसने बार-बार उस कॉन्स्टेबल को बताया कि वह एक रिपोर्टर है और आईडी कार्ड भी दिखाया, लेकिन इसके बावजूद भी वह नहीं माना, बल्कि उसे मारते हुए पूछा कि वह हेल्मेट क्यों पहने हुए है? इसके बाद उसने एक दूसरे पुलिसकर्मी को उसका कैमरा व आईडी कार्ड छीनकर दे दिया। दूसरे पुलिसकर्मी ने कैमरा तब लौटाया जब उसने उसमें मौजूद सभी महत्वपूर्ण विडियो फुटेज को डिलीट कर दिया। नातुंग के मुताबिक, कैमरे में सुरक्षाकर्मी और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झगड़े की फुटेज भी थी।   

हालांकि घटना के बाद, शाम को प्रेस क्लब में एक आपातकाल बैठक बुलाई गई, जिसमें मीडिया से जुड़े तमाम लोगों ने एक सुर में हमले की निंदा की और दोनों पुलिसकर्मियों के तत्काल निलंबन की मांग की।

अरुणाचल प्रेस मीडिया, अरुणाचल इलेक्ट्रॉनिक मीडिया असोसिएशन और अरुणाचल प्रदेश यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट ने तत्काल पुलिसकर्मियों के निलंबन की मांग करते हुए कहा कि पुलिसकर्मियों ने पत्रकारों को सुरक्षा प्रदान करने के बजाय मीडिया घरानों की बौद्धिक संपदा को नुकसान पहुंचाया और अपनी शक्तियों का दुरुपयोग किया।

प्रेस निकायों ने राज्य सरकार से यह आग्रह किया कि वह राज्य पुलिस को यह निर्देश दे कि वे मीडिया के लोगों से सही तरह से व्यवहार करें। क्योंकि इस तरह की यह दूसरी घटना है। इससे पहले भी पुलिस ने एक पत्रकार का कैमरा छीन कर उसके विडियो नष्ट कर दिया था।



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com