‘प्रसार भारती’ के एम्पलॉइज का किया जाएगा आंकलन, वर्कफोर्स की होगी समीक्षा

‘प्रसार भारती’ के एम्पलॉइज का किया जाएगा आंकलन, वर्कफोर्स की होगी समीक्षा

Saturday, 27 January, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

पब्लिक ब्रॉडकास्ट कंपनी ‘प्रसार भारती’ ने लंबे समय से लंबित मैनपॉवर ऑडिट को शुरू करने की दिशा में एक और कदम बढ़ा दिया है। इसके तहत प्रसार भारती ने ब्रॉडकास्‍ट इंजीनियरिंग कंसल्‍टेंट्स इंडिया लिमिटेड’ (Becil) द्वारा रिक्‍वेस्‍ट फॉर प्रपोजल’ (request for proposal) जारी कर दिए हैं। जल्‍द ही ऑडिट के लिए एक निजी एजेंसी का चयन हो जाएगा। सैम पित्रोदा कमेटी द्वारा वर्ष 2014 में पेश की गईं सिफारिशों की दिशा में यह कदम उठाया गया है।  

गौरतलब है कि सैम पित्रोदा कमेटी ने प्रसार भारती मामले में जनवरी 2014 में अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि अन्‍य देशों के पब्लिक ब्रॉडकास्‍टर्स की तुलना में यहां पर वर्कफोर्स काफी ज्‍यादा है। इसके अलावा प्रसार भारती में मैन पॉवर का ऑडिट कराने की सिफारिश भी की गई थीताकि पता चल सके कि यहां पर स्‍टाफ की क्‍या स्थिति है और कितने स्‍टाफ की जरूरत है।

पिछले साल कमेटी ने चिंता जताई थी कि रिपोर्ट सौंपने के बावजूद मैनपॉवर ऑडिट के मुद्दे पर कोई प्रोग्रेस नहीं हो रही हैजिस पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने प्रसार भारती को कमेटी की 26 सिफारिशों को लेकर एक्‍शन प्‍लान बनाने को कहा था।

अंग्रेजी न्‍यूज वेबसाइट लाइव मिंट’ (Livemint) की खबर के मुताबिक, प्रसार भारती के चीफ एग्जिक्‍यूटिव ऑफिसर शशि शेखर वेम्‍पती का कहना है कि इस मामले में गठित कमेटी ने आवेदनकर्ताओं के लिए नियम व शर्तें तैयार कर दी हैं। जल्‍द ही मंत्रालय से सलाह के बाद इसके लिए एजेंसी का चयन कर लिया जाएगा।

दूरदर्शनकी ओर से 23 टेलिविजन चैनलों और एक फ्री टू एयर चैनल डीडी फ्री डिशका संचालन किया जाता है, वहीं ऑल इंडिया रेडियोद्वारा 420 रेडियो स्‍टेशनों का संचालन किया जाता है इनमें एफएम चैनल (एफएम गोल्‍ड और एफएम रेनबो), स्‍थानीय रेडियो स्‍टेशन, विविध भारती स्‍टेशन और पांच कम्‍युनिटी रेडियो स्‍टेशन शामिल हैं।

काफी समय से प्रसार भारती कर्मचारियों की कमी से जूझ रही है। यहां कार्यरत कई कर्मचारियों के लंबे समय से प्रमोशन नहीं हुए हैं, वहीं काफी समय से युवाओं की भर्ती भी नहीं की गई है। आखिरी बार यहां वर्ष 1996 में भर्ती कार्यक्रम आयोजित हुआ था।

31 मार्च को समाप्‍त हुए वित्‍तीय वर्ष के अनुसार, ‘दूरदर्शनका कुल रेवेन्‍यू 827.51 करोड़ रुपये रहा, जो इसके वार्षिक लक्ष्‍य 800 करोड़ रुपये से ज्‍यादा था। ब्रॉडकास्‍टर ने वर्ष 2015-16 में 755 करोड़ रुपये की कमाई की थी। वहीं, यदि ऑल इंडिया रेडियोकी बात करें तो वर्ष 2015-16 में जहां इसका रेवेन्‍यू 447 करोड़ था, वह बढ़कर 2016-17 में बढ़कर 455 करोड़ रुपये हो गया था।

 


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com