बेटी ने बताया कैसे पत्रकार पिता की पिटाई की स्कूल वालों नेे, प्रिंसिपल गिरफ्तार, मालिक फरार

बेटी ने बताया कैसे पत्रकार पिता की पिटाई की स्कूल वालों नेे, प्रिंसिपल गिरफ्तार, मालिक फरार

Wednesday, 27 September, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो  ।।

स्कूल में अपने बच्चों को टिफिन देने गए पत्रकार की पिटाई के मामले में पुलिस ने आरोपी प्रिंसिपल को गिरफ्तार कर लिया है। हमले का आरोप स्कूल के मालिक और प्रिंसिपल पर लगा है। 

एसएचओ सेक्टर-24 उम्मेद कुमार ने बताया कि शिकायत के आधार पर स्कूल प्रिंसिपल एस. पी. सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। अभी स्कूल के मालिक कर्मवीर को पकड़ा नहीं जा सका है। वह फरार बताया जा रहा है। पुलिस ने मामले में स्कूल के अकाउन्टेंट और सिक्यॉरिटी गार्ड से भी पूछताछ की है।

पीड़ित पत्रकार मोहम्मद यूसुफ सैफी ‘न्यूज24’ में रिपोर्टर है और उसके दो बच्चे सेक्टर-22 के जे ब्लॉक स्थित आरडी पब्लिक स्कूल में पढ़ते हैं। सैफी सोमवार सुबह सेक्टर-22 में आर डी पब्लिक स्कूल में अपने बच्चों का टिफिन देने गए थे। स्कूल में टिफिन लेने से मना कर दिया गया। इस पर उनका स्कूल मैनेजमेंट के साथ विवाद हो गया।

आरोप है कि इस दौरान स्कूल के प्रिंसिपल और मालिक कर्मवीर सिंह ने यूसुफ के साथ मारपीट की। यूसुफ की शिकायत पर पुलिस ने सोमवार को एफआईआर दर्ज की थी।

अस्पताल में भर्ती यूसुफ का आरोप है कि घटना के बाद स्कूल प्रबंधन ने पांचवीं क्लास में पढ़ने वाली उनकी बेटी को सबके सामने खड़ा कर बताया कि कैसे उसके पिता की पिटाई कर स्कूल से भगाया गया है। स्कूल से लौटने के बाद से उनकी बेटी सदमे में आ गई है। आरोप है कि अब यूसुफ पर समझौता करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। 

वहीं स्कूल प्रबंधन का कहना है कि अभिभावक पर पिस्टल तानने और मारपीट का आरोप गलत है। स्कूल प्रबंधन नियम के अनुसार काम कर रहा था। अभिभावक अपनी आईडी भी नहीं लाए थे और उल्टा कहासुनी कर रहे थे। मारपीट की हम समर्थन नहीं करते हैं। अगर स्कूल की तरफ से गलती हुई हैतो स्कूल असोसिएशन अभिभावक से बात करेगी।

वहीं यूसुफ के मुताबिकसोमवार को उसके दोनों बच्चे अपना टिफिन ले जाना भूल गए थेइसलिए वह सुबह करीब नौ बजे स्कूल में बच्चों को टिफिन देने गए थेलेकिन गार्ड ने टिफिन लेने से मना कर दिया और इसके लिए ऑफिस में संपर्क करने को कहा। उन्होंने स्कूल के अकाउन्टेंट से टिफिन बच्चों तक पहुंचाने का आग्रह कियालेकिन अकाउन्टेंट ने इसके लिए प्रिंसिपल से बात करने को कहा।

जब यूसुफ प्रिंसिपल सीपी सिंह के कमरे में पहुंचे और बच्चों तक टिफिन पहुंचाने का अनुरोध कियातो प्रिंसिपल ने सुरक्षा कारणों से टिफिन लेने और बच्चों तक पहुंचाने में असमर्थता जताई। इसके बाद सैफी ने आग्रह किया कि वह पैसे बच्चों तक पहुंचा देंजिससे वे स्कूल की कैंटीन से कुछ खा लेंगे। लेकिनप्रिंसिपल ने इस बात से भी इनकार कर दिया और कहा कि बच्चे एक दिन खाना नहीं खाएंगे तो उन्हें कुछ नहीं होगा। लेकिन यूसुफ ने कहा कि पिता होने के नाते वह बच्चों की समस्या को समझ सकते हैं।

इस बात पर कहासुनी हो गई और इसी बीच वहां स्कूल के मालिक चौधरी करमवीर सिंह पहुंच गए। उन्होंने बिना कुछ बातचीत किए पत्रकार यूसुफ सैफी पर हमला बोल दिया। इसके बाद प्रिंसिपल ने भी उनका साथ दिया और दोनों ने मिलकर उन्हें लात-घूंसे और रॉड से जमकर पीटा। सैफी का कहना था कि स्कूल के मालिक ने पिस्टल भी निकाल ली थी। स्कूल मालिक और प्रिंसिपल ने बच्चों के पिता को गंभीर रूप से घायल कर स्कूल के बाहर सड़क पर डाल दियालेकिन बेहोशी की हालत में उन्होंने जब पुलिस को इसकी सूचना दीतो मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया था।  



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com