वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा के वकील ने इस आवेदन पर जताया ऐतराज...

वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा के वकील ने इस आवेदन पर जताया ऐतराज...

Monday, 13 November, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मंत्री राजेश मूणत के कथित सेक्स सीडी कांड में रायपुर केन्द्रीय जेल में बंद वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की रिमांड अवधि सोमवार को 27 नवंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है। वर्मा की रिमांड अवधि सोमवार 13 नवंबर को खत्म होने पर उन्हें न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायालय ने उनकी रिमांड अवधि को 14 दिन और बढ़ा दी।

सोमवार को सुबह 10.30 बजे प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में विनोद वर्मा को पेश किया गया। कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए विनोद वर्मा को 27 नवंबर तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। विनोद वर्मा के वकील फैजल रिजवी ने कहा कि अब वे जमानत के लिए हाईकोर्ट जाएंगे। उन्होंने बताया कि कोर्ट से कॉपी मिल गई है, जिसे लेकर वे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।

कोर्ट में पेश करने के बाद पुलिस ने विनोद वर्मा की हैंड राइटिंग के लिए आवेदन लगाया है, जिसका विनोद वर्मा के वकील फैजल रिजवी ने विरोध किया। फैजल रिजवी ने पुलिस द्वारा पेश किए गए इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य पर हस्तलिपि का नमूना मांगने पर भी विरोध जताया। साथ ही रिजवी ने कोर्ट में पेश किए गए साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ और नष्ट करने की आशंका भी जताई।

गौरतलब है कि पंडरी पुलिस थाने में बीजेपी नेता प्रकाश बजाज ने ब्लैकमेलिंग की शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन उनकी एफआईआर में कहीं भी विनोद वर्मा के नाम का जिक्र तक नहीं था। एफआईआर के चंद घंटों बाद पुलिस ने रात 3 बजे विनोद वर्मा को गाजियाबाद स्थित उनके घर से 27 अक्टूबर गिरफ्तार किया था। पुलिस का दावा है कि उनके पास से 500 सीडी, पैन ड्राइव और लैपटॉप बरामद किया गया था। 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com