जब न्यूज डिबेट में भाग लेने जा रहे RSS विचारक को नोएडा पुलिस ने पकड़ा...

Wednesday, 04 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस का भी क्या कहना। सोमवार को भारत बंद था और हर जगह विरोध प्रदर्शन हो रहा था, लिहाजा वह भी एक्टिव मूड में थी और उसकी अलग-अलग टीमें प्रदर्शनकारियों को ढूंढ रही थीं। इसी दौरान नोएडा पुलिस की एक टीम फिल्म सिटी भी पहुंची और यहां से उसने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक और दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर राकेश सिन्हा को भारत बंदआंदोलन का प्रदर्शनकारी समझकर पकड़ लिया और जबरन कार में बैठा लिया।  दरअसल राकेश सिन्हा उस समय सीएनएन-न्यूज 18 चैनल के पैनल डिस्कशन में भाग लेने के लिए फिल्म सिटी पहुंचे हुए थे।

इस घटना की जानकारी देते हुए राकेश सिन्हा ने बताया कि उन्हें सीएनएन-न्यूज 18 के गेट से एसएचओ अनिल कुमार शाही के नेतृत्व में जबरन पुलिस गाड़ी में बैठाकर ले गई। उनका व्यवहार अशोभनीय था, धमकी भरा था। भीड़ जुटने पर 500 मीटर दूर जाकर छोड़ा। बाद में सफाई दी मुझे दलित ऐक्टिविस्ट समझ बैठे।


सिन्हा ने बताया कि वे एक पैनल डिस्कशन के लिए जा रहे थे। उसी समय रास्ते में उन्हें नोएडा पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें पुलिस की एक जीप में डाल दिया गया। उस जीप में पहले से ही आठ पुलिसकर्मी बैठे थे। पुलिस टीम का नेतृत्‍व नोएडा के एसएचओ कर रहे थे। उन्‍होंने जब पुलिसकर्मियों से पूछा कि उन्‍हें हिरासत में किस आरोप में लिया गया तो उन्‍होंने बताया कि वो दलित प्रदर्शनकारी हैं। जब उन्होंने बताया कि वे आरएसएस से हैं, तो भी उन्होंने नहीं सुनी। सिन्हा ने कहा कि जिन लोगों को मेरे साथ ले जाया गया उन्होंने भी बताया कि मैं प्रदर्शनकारी नहीं हूं। जब उन्होंने मेरी बात सुनी तो मुझे वापस स्टूडियो छोड़ा। बाद में थाने के एसएचओ ने फोन कर माफी मांगी।

उन्‍होंने कहा कि पुलिसकर्मियों को मानवाधिकार और व्यक्ति के सम्मान का ख्याल रखना चाहिए।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट के तहत तत्काल गिरफ्तारी पर रोक के फैसले के खिलाफ सोमवार को कई संगठनों द्वारा बुलाए गए 'भारत बंद' प्रदर्शन के तहत देश के अनेक राज्यों में हिंसक प्रदर्शन हुए। कई राज्यों में तोड़-फोड़, आगजनी और फायरिंग में 9 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। नोएडा में हिंसा न फैले इसी वजह से पुलिस की टीमों को हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करने के लिए भेजा गया था। इसी दौरान पुलिस ने गलती से राकेश सिन्हा को पकड़ लिया।

नोएडा सेक्टर-20 स्थित पुलिस थाने के एसएचओ अनिल कुमार शाई ने मीडिया को बताया कि उनकी टीमें हिंसा करने वाले लोगों का पीछा कर रही थीं। उन्हें वे (राकेश सिन्हा) फिल्म सिटी में दिखाई दिए और गलती से उन्हें प्रदर्शनकारी समझ लिया गया। जैसे ही हमें गलती का पता चला, हमने उन्हें तुरंत जाने दिया।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com