पुण्यतिथि विशेष: स्व. रमेश चंद्र अग्रवाल को समाचार4मीडिया कुछ यूं कर रहा है याद...

Thursday, 12 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के चेयरमैन रहे रमेश चंद्र अग्रवाल की आज पहली पुण्यतिथि है। बीते वर्ष आज ही के दिन दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। उनके असामयिक निधन की खबर संपूर्ण मीडिया जगत के लिए बेहद दुखदायी थी। तमाम वरिष्ठ पत्रकारों ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया था और उनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया था। उनकी पहली पुण्यतिथि पर आज एक बार फिर समाचार4मीडिया अपने प्लेटफॉर्म पर उन पत्रकारों के लेखों को आपके समक्ष लाया है, जिन्होंने उनके साथ बिताए पलों को बीते वर्ष हमसे साझा किया था।


यहां पढ़ें- 40 साल बाद भी रमेशजी की ये बात मेरे दिमाग में गहरे बैठी हुई है: राजेश बादल


यहां पढ़ें- रमेश अग्रवालजी की कई विशेषताओं को याद कर रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता


यहां पढ़ें- स्व. रमेश चंद्र अग्रवाल को कुछ यूं याद किया वरिष्ठ पत्रकार डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी ने...


यहां पढ़ें- वक्त बदला पर रमेशजी नहीं बदले...


दरअसल, 12 अप्रैल, 2017 का दिन था, जब सुबह अहमदाबाद एयरपोर्ट पर रमेश चंद्र अग्रवालजी ने सीने में दर्द की शिकायत की थी, जिसके कुछ समय बाद वे गिर पड़े थे और उन्हें तत्काल अहमदाबाद के अपोलो अस्पताल ले जाया गया था, जहां हार्टअटैक से उनका निधन हो गया था। उस समय वे 73 साल के थे।

 

10 दिसबंर 2005 को वे डीबी कॉर्प के बोर्ड में शामिल हुए थे और अपने अंतिम दिनों तक वे इसके साथ जुड़े रहे। उन्हें प्रकाशन और अखबार के कारोबार का बेहद लंबा अनुभव था। वे भोपाल यूनिवर्सिटी से पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएट थे।

 

रमेश चंद्र जी मध्य प्रदेश में FICCI (Federation of Indian Chambers of Commerce and Industry) के चेयरमैन भी रह चुके थे। उन्हें साल 2003, 2006 और 2007 में इंडिया टुडे मैगजीन द्वारा 50 सबसे शक्तिशाली बिजनेस घरानों की सूची में शामिल किया जा चुका था। साल 2012 में तो वे प्रतिष्ठित मैगजीन फोर्ब्सद्वारा जारी भारत के सबसे अमीर लोगों की सूची में 95वें स्थान पर थे। उनके तीनों बेटे गिरीश अग्रवाल, सुधीर अग्रवाल और पवन अग्रवाल उनके बिजनेस में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं।

 

30 नवंबर 1944 को उत्तर प्रदेश के झांसी में जन्मे रमेश चंद्र अग्रवाल 1956 में पिता सेठ द्वारकाप्रसाद अग्रवाल के साथ भोपाल आ गए थे। उन्होंने 1958 में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से दैनिक भास्कर की नींव रखी थी। 1983 में इंदौर संस्करण की शुरुआत की थी। 1996 में भास्कर पहली बार मध्य प्रदेश से बाहर निकला और राजस्थान पहुंचा। उनके विजन और स्पष्ट लक्ष्य का ही नतीजा था कि आज भास्कर 14 राज्यों में 62 संस्करण के साथ न सिर्फ देश का अग्रणी अखबार है, बल्कि सर्कुलेशन के मामले में भी वह बहुत आगे है।

 

उन्हीं के ही नेतृत्व में समूह ने हिंदी अखबार दैनिक भास्कर’, गुजराती अखबार दिव्य भास्कर’, अंग्रेजी अखबार डीएनए’, मराठी समाचार पत्र दिव्य मराठी’, रेडियो चैनल माय एफएम और डीबी डिजिटल को मीडिया जगत में सबसे अग्रणी बनाया। उन्हें पत्रकारिता में राजीव गांधी लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से भी सम्मानित किया जा चुका था।

 

 

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

आपको 'फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा' शो कैसा लगा?

'कॉमेडी नाइट्स...' की तुलना में खराब

नया फॉर्मैट अच्छा लगा

अभी देखा नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com