सुप्रीम कोर्ट: प्राइम टाइम में इस समस्या पर फोकस करें चैनल

सुप्रीम कोर्ट: प्राइम टाइम में इस समस्या पर फोकस करें चैनल

Saturday, 28 October, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मौत के खेल के नाम से मशहूर हो चुके ब्लू व्हेल गेम की जद में आकर कई लोगों ने मौत को गले लगा लिया। इसे देखते हुए ही शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस गेम पर कड़ा रुख अपनाया है। कोर्ट ने शुक्रवार को राष्ट्रीय प्रसारण चैनल दूरदर्शन और निजी चैनलों से कहा कि वे ब्लू व्हेल गेम की वजह से स्वास्थ्य को होने वाले नुकसानों पर जागरुकता फैलाएं।

देश की शीर्ष अदालत ने इसे एक राष्ट्रीय समस्या बताया और इस गेम को लेकर चैनलों से उनके प्राइम टाइम कार्यक्रमों में जागरुकता फैलाने को कहा।

सुप्रीम कोर्ट में जवाब देते हुए केंद्र ने कहा कि इस मामले पर एक एक्सपर्ट कमिटी का गठन किया गया है जो पूरे मामले की जांच करेगी और तीन महीनों के अंदर रिपोर्ट देगी। याचिकाकर्ता ने कोर्ट से मांग की थी कि ब्लू व्हेल गेम के घातक परिणामों के बारे में जागरुकता पैदा की जानी चाहिए।

इस मामले में दो वकीलों ने याचिका दायर कर ब्लू व्हेल गेम पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। वकीलों ने उल्लेख किया कि इस गेम को सोशल मीडिया से लोकप्रियता मिल रही है और उन मीडिया रिपोर्ट का जिक्र किया जिसमें ऑनलाइन गेम खेलते समय 200 लोगों की आत्महत्या की बात है।

बता दें कि, ब्लू व्हेल नामक जानलेवा ऑनलाइन गेम की शुरुआत में प्लेयर को कागज के टुकड़े पर व्हेल बनाने का टास्क दिया जाता है, इसके बाद खिलाड़ी को अपने शरीर पर व्हेल की आकृति खींचने का टास्क मिलता है। इस तरह धीरे-धीरे इस गेम के टास्क में जोखिम बढ़ता जाता है और खेल के अंत में खिलाड़ी को अपनी जान देने का टास्क मिलता है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



Copyright © 2017 samachar4media.com