जानिए, क्यों वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र राय ने ठोका 100 करोड़ का मुकदमा...

जानिए, क्यों वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र राय ने ठोका 100 करोड़ का मुकदमा...

Wednesday, 25 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र राय ने न्यूज वेबसाइट ‘पीगुरूज डॉट कॉम’ (pgurus.com) को दिल्ली हाई कोर्ट में घसीटा है। दरअसल राय ने अपने बारे में तथ्यहीन और भ्रामक खबर प्रकाशित करने के चलते वेबसाइट पर 100 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमा किया है। राय इस समय 'द प्रिंटलाइंस' (theprintlines.com) न्यूज पोर्टल के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ हैं।

बता दें कि पीगुरूज वेबसाइट का आरोप है कि एयरसेल-मैक्सिस घोटाला मामले में 2011 मेंचिदंबरम व उनके सहयोगियों ने उपेंद्र राय की सेवाओं का इस्तेमाल किया था और राय को सुप्रीम कोर्ट से अवमानना शुल्क का सामना करना पड़ा थातब राय सहारा समूह में मुख्य संपादक के तौर पर कार्यरत थे। (पीगुरूज की खबर-चिदंबरम ने एयरसेल-मैक्सिस घोटाले कीजांच करने वाले ईडी अधिकारी के खिलाफ बेनामी के माध्यम से एक साजिशी याचिका दायरकी! / चिदंबरम के बेनामी याचिकाकर्ता उपेंद्र राय के विशाल अवैध संपत्तियों औरमनी लॉंडरिंग के बारे में अधिक जानकारी!)  

वहीं दूसरी तरफ उपेन्द्र राय का कहना है कि उनके खिलाफ सोची समझी साजिश रची गई है जिसमें कुछ वरिष्ठ अधिकारीराजीनति से जुड़े लोग और पत्रकारिता जगत के लोग शामिल हैं। उपेन्द्र राय ने इन सभी पर भ्रष्टाचारलाइजनिंग और पीत पत्रकारिता करने के आरोप लगाए हैं।  

राय का कहना है कि 28 मार्च, 2018 को उन्होंने एक चर्चित अधिकारी राजेश्वर सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला संज्ञान में लेने के लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट के सामने विस्तार से रखा। उनका कहना है कि संदर्भित अधिकारी के खिलाफ पिछले 8 वर्षों से पत्रकारिता के मानकों पर भ्रष्टाचार की लड़ाई चल रही है। इसी कारण से राजेश्वर सिंह और भ्रष्टाचार में उनके सहयोगी अधिकारी मेरे खिलाफ षड्यंत्रों में जुटे हैं।

राय ने आगे कहा कि इस षड्यंत्र में कुछ वरिष्ठ कमीशनखोर नेता भी शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट में उक्त मामले की इसी हफ्ते सुनवाई होनी है। इसी वजह से राजेश्वर सिंह और उनकी पूरी लॉबी में बौखलाहट है।  

राय ने कहा कि पूरे घटनाक्रम से निराश इस लॉबी ने उन्हें बदनाम करने के लिए निम्नस्तरीय वेबसाइट ‘पीगुरूज’ पर अनर्गल खबरें छपवा दीं।

राय ने ‘पीगुरूज’ वेबसाइट को रहस्यमयी बताया और इस पर सवाल भी खड़े किए। उन्होंने कहा कि साइट देखकर तो इसको ऑपरेट करने वालों की जानकारी भी नहीं प्राप्त की जा सकती। यह साइट पत्रकारिता के बुनियादी सिद्धांतों और प्राकृतिक न्याय का खुला उल्लंघन करती रही है। यह बात सर्वज्ञात है कि पत्रकारिता में आरोप लगाने से पहले संबंधित व्यक्ति का पक्ष जानना अनिवार्य होता हैलेकिन झूठी खबरें प्रकाशित करने वाली यह साइट हमेशा किसी का स्पष्टीकरण लेने से कतराती रही है। उन्होंने कहा कि ‘पीगुरूज’ ऐसी ही मसाला टाइप खबरें छापने वाली साइट है जिस पर सिर्फ और सिर्फ भ्रामक तथ्य ही परोसे जाते हैं।    

 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com