कुछ यूं वरिष्ठ पत्रकारों ने भास्कर समूह के चेयरमैन रमेश चंद्र अग्रवाल को दी श्रद्धांजलि...

Thursday, 13 April, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के चेयरमैन रमेश चंद्र अग्रवाल का बुधवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनके असामयिक निधन की खबर संपूर्ण मीडिया जगत के लिए बेहद दुखदायी है। कई वरिष्ठ पत्रकारों ने uउनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया और उनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया-

स्व. अग्रवाल के असमायिक निधन पर हैरानी जताते हुए इंडिया टीवी के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा ने कहा कि रमेशजी के अचानक यूं चले जाने से पूरे मीडिय जगत में एक शून्य का पैदा हो गया है। ये पूरी इंडस्ट्री के लिए एक व्यक्तिगत क्षति है। मुझे उनके न रहने का बेहद अफसोस है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें और शोक संतृप्त परिवार को ये दुख सहने का हौंसला।

रमेश चंद्र अग्रवाल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए बीएजी फिल्म्स एंड मीडिया लिमिटेड की चेयरपर्सन व मैनेजिंग डायरेक्टर अनुराधा प्रसाद कहती हैं वह भारतीय मीडिया के वरिष्ठ व प्रतिष्ठित सदस्य थे और उनका इस तरह से चले जाना मीडिया जगत के लिए बहुत बड़ा नुकसान है।

वहीं दैनिक भास्कर के चेयरमैन की प्रशंसा करते हुए इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत कहते हैं, ‘अग्रवाल ने पत्रकारिता को एक नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया है। जिस भास्कर ने अपने साहसपूर्ण कदम से अधिकारियों से सीधे सवाल पूछे और आम आदमी के हित में अपनी पहचना बनाई, यह सब रमेश अग्रवाल के स्वतंत्र विचारों के बिना तो संभव नहीं हो सकता था। देश के प्रति वे बेहद जिम्मेदार थे।’

देश के सबसे बड़े अखबार ‘भास्कर’ के स्वामी श्री रमेशचंद्र अंग्रवाल के आकस्मिक निधन पर प्रसिद्ध राजनीतिक विचारक और वरिष्ठ पत्रकार डाॅ. वेदप्रताप वैदिक ने गहरा शोक व्यक्त किया है। डाॅ. वैदिक ने कहा है कि हिंदी पत्रकारिता के इतिहास में रमेशजी का नाम अमर रहेगा। उन्होंने ‘भास्कर’ को जिन ऊंचाइयों पर पहुंचाया, उनके पहले किसी भी पत्र-मालिक ने नहीं पहुंचाया। भास्कर ने विचार-स्वातंत्र्य, निष्पक्ष खबरों और साज-सज्जा के क्षेत्र में बेजोड़ प्रतिमान कायम किए हैं। इसका श्रेय श्री रमेश अग्रवाल और उनके सुयोग्य पुत्र श्री सुधीर अग्रवाल को है। डाॅ. वैदिक ने कहा कि मैं अपनी लगभग 45 साल की मित्रता में बंधे रमेशजी को इस तरह अचानक जाता देख हतप्रभ हूं। वे उदारता, विनम्रता और व्यावहारिकता की प्रतिमूर्ति थे। मैं उन्हें हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

 उन्हें याद करते हुए वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ अग्निहोत्री कहते हैं, ‘दैनिक भास्कर के राष्ट्रीय ब्यूरो में कुछ वर्ष काम किया तो रमेशजी के सम्पर्क में आया। जमीन से उठ कर आसमान तक की यात्रा के बाद भी वो सरल थे, सहज थे और ये बहुत बड़ी बात थी। संपदा और संस्थान का दंभ उनमें मुझे कभी नहीं दिखा। बहुत बड़े अखबार के स्वामी होने के नाते राजनीतिक गलियारों में भी उनकी एक जगह बनी थी, लेकिन वे जब किसी छोटे नेता से भी मिलते तो बहुत सहज भाव से। सहजता और पांव जमीन पे रखना उनकी निजी शैली थी, जिसे वो उम्र भर संजोये रहे। रमेश चंद्र अग्रवाल जी अब स्मृति शेष हैं लेकिन उनका जीवन एक प्रेरणा है। रमेशजी में विपरीत परिस्थितयों में धैर्य धारण करने और जीवन में संतुलन स्थापित करके चलने की भी बड़ी कला थी। जब मैं भास्कर में था तब कई बार ऐसे अवसर आये जहां उनकी यह कला खूब दिखी। कारोबार को लेकर तो वो शायद यह वरदान ही लेके अवतरित हुए थे कि मिट्टी को छुओगे तो वह सोना हो जाएगी। अपने पिता की संतानों में वे सर्वाधिक सफल और प्रसिद्ध थे। रमेशजी जीवन, समाज, संतुलन, परिश्रम, इन सबको बहुतों बेहतर जानते थे। उनकी पुण्य स्मृति को मेरा नमन।

दूरदर्शन व ऑल इंडिया रेडियो की पूर्व डायरेक्टर जनरल अर्चना दत्ता ने अग्रवाल को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा, ‘यह मीडिया जगत के लिए एक बड़ा नुकसान है। उनके नेतृत्व में ही डीबी कॉर्प ने खुद को मजबूत, फिर और मजबूत बनाया’

समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

पोल

आपको समाचार4मीडिया का नया लुक कैसा लगा?

पहले से बेहतर

ठीक-ठाक

पहले वाला ज्यादा अच्छा था

Copyright © 2017 samachar4media.com