RJD नेता शिवानंद तिवारी ने मीडिया को दी ये नसीहत...

Tuesday, 03 October, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने इस बार मीडिया को अपना निशाना बनाया है। उन्होंने कहा कि नीतीश के सलाहकार आए दिन गलत भाषा में बयान जारी करते हैं और मीडिया उन्हें ऐसे ही छाप देता है। उन्होंने कहा कि ऐसी बातें जो समाज में भाषा को लेकर कु-संस्कार फैलाती हैं, उनका संपादन तो होना ही चाहिए।

शिवानंद तिवारी ने मीडिया को यह नसीहत अपने फेसबुक पेज पर साझा कर दी है। उन्होंने लिखा है, 'अगर मैं कहूं कि नीतीश कुमार में नीरज या संजय सिंह या आलोक का अंश है तो आपको ताज्जुब हो सकता है। यही लोग नीतीश कुमार के प्रवक्ता हैं। नीतीश की ओर से विरोधियों पर रोजाना हमला करते हैं। आप इनकी भाषा देख लीजिए।'

वे आगे लिखते हैं, 'शरद यादव या लालू जी को लेकर क्या-क्या बोलते हैं ये लोग! पता नहीं अखबार वाले कैसे उनकी ऐसी बातों को छाप देते हैं। सब नहीं, लेकिन ऐसी बातें जो समाज में भाषा को लेकर कु-संस्कार फैलाती हैं, उनका संपादन तो होना चाहिए। ये लोग रोजाना बोलते हैं। नीतीश कुमार उनको पढ़ते हैं। उनको इन लोगों की भाषा पढ़कर आनंद मिलता होगा। तभी तो इन पर लगाम लगाने की जरूरत उन्होंने ने नहीं समझी।

वे लिखते हैं, मुझे याद है जब नीतीश एनडीए से बाहर आ गए थे तब सुशील मोदी आदतन नीतीश पर रोज हमला करते थे। मीडिया के लोगों ने नीतीश का ध्यान इस ओर खींचा। नीतीश का जवाब था कि मैं तो सुशील मोदी को कभी पढ़ता नहीं हूं। उनको जवाब देने के लिए हमारे संजय सिंह पर्याप्त हैं। इस जवाब में एक तरफ तो अहंकार है तो दूसरी ओर वैचारिक विरोधी के प्रति हिक़ारत का भाव भी है। जो अपने लिए अहंकार और विरोधी के प्रति हिक़ारत का भाव रखता है उसके मुंह से वही भाषा निकलेगी जो नीतीश की ओर से बोलने वालों के मुंह से निकलती है। इसलिए यह नहीं माना जाए कि प्रवक्ता अपना बोल रहे हैं। भले ही मुंह प्रवक्ताओं का हो लेकिन बात तो वे नीतीश की बोलते हैं। बावजूद इसके अखबारों में छपने वाली भाषा का ध्यान तो रखा ही जाना चाहिए।'

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com