टीवी पत्रकार अखिलेश शर्मा बोले, सेना का मीडिया संग संवाद बढ़ना चाहिए

Wednesday, 14 February, 2018

 

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) में भारतीय सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के लिए मीडिया कम्युनिकेशन कोर्स की शुरुआत की गई है। इसका उद्घाटन एनडीटीवी इंडिया के राजनीतिक संपादक अखिलेश शर्मा ने किया। इस मौके पर संस्थान के महानिदेशक के.जी.सुरेश भी मौजूद थे।

इस मौके पर अखिलेश शर्मा ने कहा कि मौजूदा समय में मीडिया के महत्व और उसकी ताकत को देखते हुए यह जरूरी है कि सेना का उसके साथ संवाद बढ़ना चाहिए। शर्मा ने कहा कि मीडिया अपनी जिम्मेदारी समझता है लेकिन इसके बावजूद कई बार ऐसा होता है कि सही समय पर सूचनायें न मिलने से अफवाहें खबरों की जगह ले लेती हैं। इससे न सिर्फ मीडिया की साख को धक्का पहुंचता है। बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा को भी खतरा हो सकता है और देश के दुश्मन इसका फायदा उठा सकते हैं।

शर्मा ने अपने कारगिल युद्ध के कवरेज को याद करते हुए कहा कि वह युद्ध टीवी कैमरों के सामने लड़ा जाने वाला देश का पहला युद्ध था। सेना के शौर्य, साहस और बलिदान की गाथायें टीवी कैमरों ने पहली बार सीधी तस्वीरों के माध्यम से लोगों के ड्राइंग रूम तक पहुंचायीं। शर्मा ने बताया कि किस तरह तब मीडिया ने सेना के साथ कंधे से कंधा मिला कर युद्ध से जुड़ी विश्वसनीय और प्रामाणिक जानकारियां देशवासियों को दीं। यह इसीलिए संभव हो पाया क्योंकि सेना ने पुरानी झिझक तोड़ते हुए मीडिया के साथ संवाद बढ़ाया और उसके साथ जानकारियां साझा कीं।

 चर्चा के दौरान यह महसूस किया गया कि मीडिया को सेना के ऑपरेशन से जुड़ी खबरें करते समय कुछ सावधानियां बरतनी चाहिएँ। मिसाल के तौर पर ऑपरेशन की सीधी तस्वीरें न दिखाईं जायें। इनसे जुड़े अफसरों और जवानों की पहचान गुप्त रखी जाये। मीडिया के साथ सूचनायें लगातार साझा की जायें ताकि अटकलों और गलत खबरों की गुंजाइश खत्म की जा सके।

संस्थान के महानिदेशक के.जी.सुरेश ने वरिष्ठ अफसरों का स्वागत करते हुए उन्हेंआईआईएमसी के कार्यकलापों के बारे में जानकारियां दीं। उन्होंने बताया कि समय-समय पर संस्थान सेना के अलावा और भी प्रतिष्ठित संगठनों के लिए संवाद के पाठ्यक्रम तथा कार्यशालायें आयोजित करता है। उन्होंने देश के सबसे प्रतिष्ठित मीडिया प्रशिक्षण संस्थान आईआईएमसी के अन्य कार्यकलापों की भी जानकारी दी और देश-विदेश में उसकी गतिविधियों के बारे में भी सेना के वरिष्ठ अधिकारियों को बताया।

उल्लेखनीय है कि अखिलेश शर्मा पिछले 15 वर्षों से एनडीटीवी में काम कर रहे हैं। पिछले डेढ़ दशक से वे भारतीय जनता पार्टी व उसकी सहयोगी पार्टियों की खबरें करते हैं। इससे पहले वे करीब दो वर्ष तक बीबीसी वर्ल्ड सर्विस लंदन में बतौर डेस्क एडिटर काम कर चुके हैं। आज तक, बीबीसी हिंदी टीवी तथा टीवीआई में भी उन्होंने विशेष संवाददाता, रिपोर्टर के तौर पर काम किया है। पत्रकारिता में करीब 23 साल का अनुभव रखने वाले अखिलेश शर्मा, टीवी का एक जाना-माना चेहरा हैं। राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय राजनीति के विषयों पर पकड़ रखने वाले शर्मा की दिलचस्पी संसदीय लोकतांत्रिक प्रणाली, राजनीतिक व्यवस्था और पत्रकारिता से जुड़े विषयों में है। वे सोशल मीडिया पर भी सक्रिय हैं और कई महत्वपूर्ण विषयों पर उनकी बेबाक राय सुर्खियां बनाती हैं। 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com