पूर्व पत्रकार राजेश साहनी की मौत के बाद यूपी सरकार ने लिए तीन बड़े फैसले...

पूर्व पत्रकार राजेश साहनी की मौत के बाद यूपी सरकार ने लिए तीन बड़े फैसले...

Wednesday, 06 June, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व पत्रकार व यूपी एटीएस के एडिशनल एसपी राजेश साहनी की मौत की जांच के आदेश सीबीआई को दे दिए हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एटीएस के दिवंगत एएसपी राजेश साहनी के परिवार का भी ध्यान रखा है।

सूबे के मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की है कि उनकी बेटी की पढ़ाई का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यदि उनकी पत्नी सरकारी सेवा में आना चाहती हैं तो उन्हें पुलिस महकमें में विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) का पद दिया जाएगा। इतना ही नहीं यह भी निर्देश दिए गए है कि उनके परिवार के लिए सरकारी आवास की सुविधा भी बनी रहेगी।

बता दें कि पीपीएस असोसिएशन ने साहनी के परिवार को सहायता उपलब्ध कराने के लिए सरकार से मांग की थी। राजेश साहनी के निधन के बाद पीपीएस असोसिएशन की मीटिंग हुई थी, जिसमें पीड़ित परिवार को मदद करने का फैसला हुआ था। पीपीएस असोसिएशन का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला था। उनसे पीड़ित परिवार की तरफ से मांगें रखी थीं, जिसमें परिवार को असाधारण पेंशन के साथ एक करोड़ की आर्थिक मदद की भी मांग की गई। सरकार ने अभी पेंशन और आर्थिक मदद पर तो निर्णय नहीं लिया है, लेकिन बाकी मांगें मान ली हैं।

हालांकि असोसिएशन ने इससे पहले सीबीआई जांच की मांग की थी। इस पर आलाधिकारियों के साथ बैठक में विचार के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई जांच का फैसला लिया था। इसके साथ ही सभी PPS अधिकारी पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देंगे। इसमें CO 3000 रुपए और ASP 5000 रुपए परिजनों को सहायता राशि के रूप में 5 जून तक देंगे।

गौरतलब है कि राजेश साहनी की पिछले दिनों एटीएस दफ्तर में मौत हो गई थी। खबरों की मानें तो उन्होंने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की है, लेकिन इसके बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है।

यहां बता दें कि वे पुलिस विभाग में जुड़ने से पहले राजेश साहनी एक पत्रकार हुआ करते थे और उनकी छवि एक ईमानदार पत्रकार की थी। वे 1995-96 में जी न्यूज के साथ रहे थे और यहां असाइनमेंट डेस्क पर कार्यरत थे। इसके बाद वे पुलिस महकमे से जुड़ गए थे। राजेश साहनी 1992 में पीपीएस सेवा में शामिल हुए थे। उनका नाम यूपी पुलिस के बेहद काबिल अफसरों में शुमार था। 2013 में वह एडिशनल एसपी के पद पर प्रमोट हुए थे। 2014 से एटीएस के साथ काम कर रहे थे। फिलहाल, एटीएस मुख्यालय में तैनात थे। उन्होंने ही ISIS के खुरासान मॉड्यूल का खुलासा किया था।

राजेश काफी समय से तमाम आतंकी संगठनों के स्लीपर मॉड्यूल और भारत में आतंक की साजिशों को बेनकाब कर रहे थे। 23 मई, 2018 में साहनी ने उत्तराखंड मिलिट्री इंटेलिजेंस और उत्तराखंड पुलिस के साथ मिलकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई एजेंट रमेश सिंह को पिथौरागढ़ से गिरफ्तार किया था।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।   



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

इंडिया न्यूज पर दीपक चौरसिया का 'टू नाइट विद दीपक चौरसिया'

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com