ये हे विज्ञापन पर खर्च करने वाले टॉप 5 राज्य... ये हे विज्ञापन पर खर्च करने वाले टॉप 5 राज्य...

ये हे विज्ञापन पर खर्च करने वाले टॉप 5 राज्य...

Thursday, 27 July, 2017

रुहैल अमीन ।।

हाल में हुए विधानसभा चुनावों और विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा शुरू किए गए नए अभियानों को देखते हुए राज्य सरकारों द्वारा पिछले वर्षों के मुकाबले विज्ञापन पर ज्‍यादा खर्च किया गया है। ‘GroupM’ द्वारा हाल ही में की गई एक स्‍टडी के मुताबिक, सरकारी योजनाओं और चुनाव अभियान को बढ़ावा देने के लिए विज्ञापन पर सरकारी खर्च साल दर साल (YoY) 10 प्रतिशत बढ़ने की संभावना है।

यदि हम वर्ष 2016-17 की बात करें तो विज्ञापन और दृश्य प्रचार निदेशालय’ ( डीएवीपी) द्वारा 31 मार्च तक विज्ञापन और प्रचार-प्रसार पर 1,285.77 करोड़ रुपये खर्च किए गए, जो पिछली साल की तुलना में 8.2 प्रतिशत ज्‍यादा हैं। यदि हम राज्‍यों के हिसाब से विज्ञापनों पर किए गए खर्च को देखें तो इनमें साल दर साल काफी इजाफा हो रहा है। कुछ मामलों में तो इनमें अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। 

आइए देखते हैं कि पिछले तीन वर्षों में किस राज्‍य ने विज्ञापनों पर ज्‍यादा राशि खर्च की है...

उत्‍तर प्रदेश : पिछले दिनों उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए, जिनमें भाजपा की जीत हुई। चुनावों में विभिन्‍न राजनीतिक दलों द्वारा चलाए गए कैंपेन पर 5,500  करोड़ रुपये खर्च किए गए। इनमें 1,000 करोड़ रुपये मतदाताओं को लुभाने की दिशा में खर्च किए गए। 

मध्‍य प्रदेश : हालिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मध्‍य प्रदेश सरकार ने पिछले तीन वर्षों में विज्ञापनों पर 800 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। प्रतिद्वंद्वी राजनीतिक दलों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में सरकार ने यह जानकारी दी है।

महाराष्‍ट्र : इंडस्‍ट्री से जुड़े विशेषज्ञों और ब्रैंड कंसल्‍टेंट्स के अनुसार, महाराष्‍ट्र में विधानसभा चुनावों के दौरान विज्ञापनों पर 700-800 करोड़ रुपये खर्च किए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉन्‍च किए गए विभिन्‍न प्रोजेक्‍ट्स के विज्ञापनों पर ही सरकार ने आठ करोड़ रुपये खर्च कर दिए।

दिल्‍ली : दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने वर्ष 2015 में अपनी उपलब्धियों के विज्ञापनों पर ही 526 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, वर्ष 2014-15 में प्रचार के लिए आवंटित राशि 23.7 करोड़ रुपये थी। यह 2013-14 में 25 करोड़, 2012-13 में 24.9 करोड़ और 2011-12 में 27.6 करोड़ रुपये थी।

राजस्‍थान : राजस्थान सरकार ने अपने पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए100 करोड़ रुपये से अधिक धनराशि निर्धारित की है। अगले कुछ वर्षों में सरकार इस राशि को विभिन्‍न कैंपेन पर खर्च करेगी। इसके लिए राज्‍य सरकार ने क्रिएटिव एजेंसी ‘Ogilvy & Mather’ को जिम्‍मेदारी दी है।

सरकार द्वारा इतने विज्ञापन खर्च के बारे में बिग एफएमके सीईओ तरुण कात्‍याल ने कहा, ‘पिछले कुछ वर्षों में जनकल्‍याण से जुड़ी विभिन्‍न योजनाएं और कानून बनाए गए हैं। लोगों को इन योजनाओं के बारे में जानकारी देने के लिए सरकार द्वारा विभिन्‍न विज्ञापनों पर काफी खर्च किया गया है।

वहीं, ‘Keventers’ के सीईओ और डायरेक्‍टर शोहराब सीताराम ने कहा, ‘विभिन्‍न ब्रैंड्स और कॉरपोरेट्स द्वारा अपने शेयरधारकों को जोड़े रखने के लिए विज्ञापनों का इस्‍तेमाल किया जाता रहा है। अब इसमें नया ट्रेंड आया है, जब सरकार भी अपने ऑडियंस से जुड़ने के लिए विज्ञापनों पर इतना खर्च कर रही है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

पोल

'कॉमेडी नाइट विद कपिल शर्मा' शो आपको कैसा लगता है?

बहुत अच्छा

ठीक-ठाक

अब पहले जैसा अच्छा नहीं लगता

Copyright © 2017 samachar4media.com