यूपी पुलिस की फिर दिखी दबंगई, रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार को पीटा...

यूपी पुलिस की फिर दिखी दबंगई, रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार को पीटा...

Wednesday, 11 October, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

यूपी में मथुरा पुलिस की दबंगई का एक मामला तब सामने आया, जब अपराधियों पर शिकंजा कसने के बजाय पुलिसकर्मी पत्रकारों से ही अपराधियों की तरह ही बर्ताव करते नजर आए।

दरअसल, थाना हाइवे क्षेत्र की अमर कॉलोनी में सात महीने पहले मारे गए मां-बाप के हत्यारों को गिरफ्तार न किए जाने से हताश युवती ने रविवार को आत्महत्या कर ली थी। मीडिया में जब यह मामला उजागर हुआ तो पुलिस का गुस्सा पत्रकारों पर ही निकलने लगा। थाना हाइवे पुलिस ने इस मामले की कवरेज कर रहे स्थानीय पत्रकार निर्मल राजपूत संडे की पहले तो पिटाई की, फिर उसे हिरासत में लेकर थाने में बैठा लिया। इसके बाद पत्रकार के साथ अपराधियों जैसा सुलूक किया गया। दरअसल, पत्रकार को पुलिस ने तब हिरासत में लिया, जब वह अमर कॉलोनी में युवती की आत्महत्या के बाद उनके परिजनों से बात कर रहे थे।

पुलिसकर्मियों ने पत्रकार से उसका फोन और कैमरा छीन कर विडियो डिलीट कर दिया। इतना ही नहीं पत्रकार से अभद्र व्यवहार करते हुए पत्रकारिता भुला देने की धमकी भी दी। इसकी सूचना जैसे ही अन्य मीडियाकर्मियों को लगी, तो सभी पत्रकार के बचाव में थाने पहुंच गए और दरोगा गौरव राणा और एसएसआई अनिल वर्मा से उसे छोड़ने की मांग की, लेकिन उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। बल्कि मौजूद दरोगा ने मीडियाकर्मियों को ही धमकी दे डाली कि आपको जो कुछ करना है कर लीजिए। इसके बाद जब तमाम मीडियाकर्मी ने इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से की तब पत्रकार को छोड़ा गया।

फिलहाल इस मामले एसएसपी स्वप्निल ममगाई ने थानाध्यक्ष हाइवे को सस्पेड कर दिया है।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com