डॉ. सुभाष चंद्रा ने मीडिया इंडस्‍ट्री को दिया सफलता का यह मूलमंत्र

डॉ. सुभाष चंद्रा ने मीडिया इंडस्‍ट्री को दिया सफलता का यह मूलमंत्र

Friday, 05 May, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

एस्सेल ग्रुप’ (Essel Group) के चेयरमैन और राज्‍यसभा सदस्‍य डॉ. सुभाष चंद्रा ने ओवर द टॉप’ (OTT) स्‍पेस यानी इंटरनेट से कंटेंट हासिल करने में सबस्क्रिप्‍शन की जरूरत पर जोर दिया है। उन्‍होंने इंडस्‍ट्री को आगाह भी किया है कि सिर्फ ऐडवर्टाइजर्स के भरोसे ही इसे नहीं चलाया जा सकता है।

डॉ. सुभाष चंद्रा शोके कुछ एपिसोड के लिए ‘Whistling Woods International Institute’ में आए एस्‍सेल ग्रुप के चेयरमैन का कहना था, ‘पेड कंटेंट (paid content) के बिना क्‍वालिटी को बनाए नहीं रखा जा सकता है। आज के समय में ऐडवर्टाइजर्स अकेले भुगतान करने के लिए तैयार नहीं हैं। मुद्रीकरण (monetization) के बिना ओटीटी सिर्फ कुछ समय के लिए काम कर सकता है।

डॉ. सुभाष चंद्रा ने कार्यक्रम में यह बात अपने अनुभव के आधार पर कही है, क्‍योंकि जी’ (ZEEL) मीडिया समूह के स्‍वामित्‍व वाला डिट्टो टीवी’ (dittoTV) एक लाइव टीवी ओटीटी प्‍लेटफार्म है, जो मात्र 20 रुपये में हिन्‍दी व अन्‍य प्रादेशिक भाषाओं के 100 से ज्‍यादा टीवी चैनल्‍स उपलब्‍ध कराता है। लॉन्चिंग के चार साल बाद पिछली साल गर्मियों में इसे री-लॉन्‍च किया गया था और इसकी कीमत 150 रुपये से घटाई गई है। इस समय गूगल प्‍ले स्‍टोर पर पांच मिलियन से ज्‍यादा लोगों ने इसे डाउनलोड कर रखा है।

इसके अलावा जीका दूसरा ओटीटी प्‍लेटफार्म ओजी’ (Ozee) पिछले साल फरवरी में लॉन्‍च किया गया था। यह ऐडवर्टाइजिंग विडियो ऑन डिमांड’ (AVOD) प्‍लेटफार्म है जो सिर्फ जीका कंटेंट ही दिखाता है। हाल ही में जारी हुई फिक्‍की-केपीएमजी रिपोर्ट 2017’ (FICCI-KPMG report 2017) के अनुसार, इसके 2.4 मिलियन एक्टिव सबस्‍क्राइबर हैं।

कई ओटीटी प्‍लेटफार्म शुरू करने के बावजूद डॉ. चंद्रा ने कंटेंट मेकर (content maker) के लिए एक प्‍लेटफार्म की जरूरत पर खासा जोर दिया। उन्‍होंने कहा, ‘प्‍लेटफार्म का होना बहुत जरूरी है। बिना इसके कंटेंट मेकर का सफलता प्राप्‍त करना काफी मुश्किल है। इसके अलावा बिना नए कंटेंट के डिजिटल वर्ल्‍ड में कोई भविष्‍य नहीं है। दर्शकों को बांधे रखने के लिए आपके पास सिर्फ एक से तीन मिनट का समय होता है।

डॉ. चंद्रा युवाओं को प्रेरित करने वाले अपने पॉपुलर शो डॉ. सुभाष चंद्रा शो (DSC) को एक नए लुक और फॉर्मेट में लेकर आए हैं, जिसका प्रसारण छह मई से होगा। इस शो में जीवन के विभिन्‍न क्षेत्रों में सफल लोगों की प्रेरक स्‍टोरी पर प्रकाश डाला जाएगा।

इस मौके पर डॉ. चंद्रा ने यह भी बताया कि वर्ष 2015 में प्रसारित किए गए शो से यह किस तरह अलग होगा। उन्‍होंने कहा, ‘मैं सिर्फ वक्‍ता ही नहीं हूं, मैं अपना अनुभव भी शेयर करता हूं। देश में डॉ. ए वेलुमणि और प्रह्लाद कक्‍कड़ जैसे काफी अच्‍छे वक्‍ता हैं। हम उन्‍हें शो में लेकर आएंगे और पूरे देश को प्रेरित करेंगे।’  

अपने स्‍पोर्ट्स चैनल टेन स्‍पोर्ट्स’ (TEN Sports) को एसपीएन’ (SPN) को बेचे जाने के बारे में डॉ. चंद्रा ने कहा, ‘यह बिजनेस संबंधी फैसला है। देश में क्रिकेट बोर्ड जैसी कुछ संस्‍थाएं हैं और ऐसे में इसका कोई मतलब हमें नहीं दिख रहा था।

डॉ. चंद्रा ने युवा पीढ़ी को सलाह दी है कि वे नए-नए प्रयोग करने से न घबराएं और आगे बढ़ना जारी रखें। उन्‍होंने कहा, ‘यह सलाह ब्रॉडकास्‍ट इंडस्‍ट्री पर भी लागू होती है। यदि ब्रॉडकास्‍टर अपने व्‍युअर्स की परवाह नहीं कर सकते और उनके मनोभाव नहीं समझ सकते तो वे बिजनेस से बाहर हो जाएंगे। लोगों की जरूरत और पसंद के अनुसार आपको कंटेंट तैयार करना होगा।

नए न्‍यूज चैनलों के शुरू होने के साथ ही इसके कई ब्‍यूरो में बदलाव के बारे में डॉ. चंद्रा ने कहा कि यह बहुत जरूरी था। उन्‍होंने कहा, ‘इन ब्‍यूरो में काफी बदलाव हा रहा है। वर्तमान सिस्‍टम में काम नहीं हो रहा है। अब यूजर द्वारा तैयार कंटेंट और टेक्‍नोलॉजी से इसे चलाने का समय है।डॉ. चंद्रा का यह भी कहना था कि जब वह मीडिया इंडस्‍ट्री की ग्रोथ को लेकर आशान्वित थे, तो उन्‍हें क्‍वॉलिटी की भी चिंता थी। उन्‍होंने कहा, ‘देश में मीडिया इंडस्‍ट्री लगातार आगे बढ़ेगी लेकिन जहां तक क्‍वॉलिटी की बात है तो उसकी जांच भी होनी चाहिए।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 



पोल

गौरी लंकेश की हत्या के बाद आयोजित विरोधसभा के मंच पर नेताओ का आना क्या ठीक है?

हां

नहीं

पता नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com