नोटबंदी का ZEE एंटरटेनमेंट पर नहीं पड़ा असर, ऐड रेवेन्यू में दिखी यह ग्रोथ नोटबंदी का ZEE एंटरटेनमेंट पर नहीं पड़ा असर, ऐड रेवेन्यू में दिखी यह ग्रोथ

नोटबंदी का ZEE एंटरटेनमेंट पर नहीं पड़ा असर, ऐड रेवेन्यू में दिखी यह ग्रोथ

Friday, 12 May, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEEL)  ने घोषणा की है कि वित्‍तीय वर्ष 2017 की चौथी तिमाही (Q4, FY’17) में उसका कॉन्‍सोलिडेटेड रेवेन्‍यू (consolidated revenues) 1528 करोड़ रुपये का रहा है। कंपनी का ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू 846.9 करोड़ रुपये रहा है। इसमें घरेलू ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू (Domestic advertising revenue) 8.1 प्रतिशत बढ़कर 794.4  करोड़ रुपये हो गया जबकि अंतरराष्‍ट्रीय ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू (international advertising revenue) 52.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।  

कंपनी के अनुसार, चौथी तिमाही में कंपनी के सबस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू में साल दर साल (YoY) के आधार पर 6.1 प्रतिशत की कमी आई है और अब यह 558 करोड़ रुपये का है। इसमें घरेलू स‍बस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू (Domestic subscription revenue) 455.4 करोड़ रह गया है जबकि अंतरराष्‍ट्रीय सबस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू (international subscription revenue) 102.6 करोड़ रुपये हो गया है।

इस वित्‍तीय वर्ष की चौथी तिमाही में पिछली साल इसी अवधि के मुकाबले 14 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की गई है और कंपनी का एबिटा (EBITDA Earnings Before Interest, Tax, Depreciation and Amortization) 468.7 करोड़ रुपये का हो गया है। एबिटा मार्जिन 30.7 प्रतिशत रहा है।

कंपनी के अनुसार चौथी तिमाही में प्रॉफिट ऑफ्टर टैक्‍स’ (PAT) 1514.2 करोड़ रुपये था। इसमें से अधिकांश भाग स्‍पोर्ट्स बिजनेस की बिक्री से आया था, जिससे 1223.4 करोड़ रुपये प्राप्‍त हुए थे। इसका एबिटा मार्जिन 29.9 प्रतिशत रहा था।

कंपनी ने बताया कि वित्‍तीय वर्ष 2016 के मुकाबले इस वित्‍तीय वर्ष में ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू में 9.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई और यह 3,673.5 करोड़ रुपये था। वहीं स‍बस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू में पिछले वित्‍तीय वर्ष के मुकाबले 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ इस वित्‍तीय वर्ष में यह 2262.9 करोड़ रुपये था। इसका घरेलू सबस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू 11.2 प्रतिशत बढ़कर 1822.6 करोड़ रुपये हो गया। स्‍पोर्ट्स की बिक्री से तुलना के आधार पर घरेलू सबस्क्रिप्‍शन 13.5 प्रतिशत था।

इस वित्‍तीय वर्ष के लिए एबिटा 1926.9 करोड़ रुपये था और इसमें पिछले वित्‍तीय वर्ष के मुकाबले 27.3 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की गई जबकि एबिटा मार्जिन 29.9 प्रतिशत था।

इस बारे में ‘ZEEL’ के चेयरमैन डॉ. सुभाष चंद्रा ने कहा, ‘नोटबंदी के बावजूद भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था ने वित्‍तीय वर्ष की तीसरी तिमाही में 7 प्रतिशत जीडीपी ग्रोथ के साथ मजबूत प्रदर्शन किया है। गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स यानी जीएसटी पूरे देश को एक बाजार के रूप में एकजुट करेगा। इसके अलावा सामान्‍य मानसून भी ग्रामीण उपभोग को बढ़ावा देगा

वहीं ‘ZEEL’ के मैनेजिंग डायरेक्‍टर और चीफ एग्जिक्‍यूटिव ऑफिसर पुनीत गोयनका ने कहा, ‘विपरीत आर्थिक माहौल के बावजूद एक और तिमाही में हमारा वित्‍तीय प्रदर्शन काफी अच्‍छा रहा है, जिससे हम बहुत खुश हैं। नोटबंदी के बावजूद हमारे घरेलू ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू में 8.1 की वृद्धि हुई है। लंबे समय बाद ऐडवर्टाइजिंग ग्रोथ ट्रैक पर आती हुई दिख रही है। अभी टैरिफ रेगुलेशन के बारे में कोई फैसला नहीं हुआ है। हमने अपने चैनलों की कीमत पब्लिश कर दी हैं। हमें भरोसा है कि प्रत्‍येक जॉनर (genre) में अपने चैनलों की मजबूत स्थिति के दम पर हम सबस्क्रिप्‍शन रेवेन्‍यू को हासिल करने में सक्षम होंगे।

पुनीत गोयनका का कहना था, ‘इस तिमाही के दौरान हमने अपने स्‍पोर्ट्स बिजनेस की बिक्री का पहला चरण पूरा कर लिया है, जिसका रेवेन्‍यू पर भी काफी प्रभाव पड़ा था। अब हमारा पूरा फोकस नेशनल और रीजनल चैनल के पोर्टफोलियो को मजबूत करने की ओर है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

पोल

'कॉमेडी नाइट विद कपिल शर्मा' शो आपको कैसा लगता है?

बहुत अच्छा

ठीक-ठाक

अब पहले जैसा अच्छा नहीं लगता

Copyright © 2017 samachar4media.com